राजस्थान राज्यसभा चुनाव: सुभाष चंद्रा ने किया 45 वोट मिलने का दावा, हॉर्स ट्रेडिंग के सवालों को नकारा


राजस्थान राज्यसभा चुनाव में भाजपा समर्थित उम्मीदवार सुभाष चंद्रा ने 45 वोट मिलने का दावा किया है। नामांकन दाखिल करने के बाद सुभाष चंद्रा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि राजस्थान के विधायक मुझे पंसद करते हैं।सुभाष चंद्रा ने कांग्रेस के हॉर्स ट्रेडिंग के सवालों को सिरे से नकार दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस या अन्य नेता क्या कह रहे हैं मुझे नहीं पता। विधायकों ने मेरा पिछले राज्यसभा में काम को भी देखा है। डॉ चंद्रा ने कहा कि मेरा जिस राज्य से प्रतिनिधित्व चल रहा है वहां भी मैंने काफी काम किया है। ऐसे में यहां के विधायक मुझे चुनेंगे और मत भी देंगे।

बीजेपी ने किया था चुनाव लड़ने का आग्रह 

डॉ. सुभाष चंद्रा से साल 2016 में हरियाणा राज्यसभा चुनाव में उनके उतरने के दौरान हुए उलटफेर को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ना तो वहां कोई उलटफेर हुआ था और ना यहां कोई उलटफेर का विषय है। मुझे आशा है कि भाजपा के 30 वोटों के साथ ही अतिरिक्त 14 से 15 वोट और मुझे मिलेंगे। उन्होंने खुद भाजपा आलाकमान और प्रदेश नेतृत्व से राजस्थान से यह चुनाव लड़ने का आग्रह किया था और कुछ निर्दलीय से बात की। तभी मैंने नामांकन भरा। चंद्रा के पास बीजेपी के 30 अतिरिक्त वोट तो है ही लेकिन वे इसके अलावा अन्य विधायकों का समर्थन हासिल करने का दावा भी करते हैं। 

संबंधित खबरें

दो मीडिया मुगलों ने राजस्थान से हरियाणा तक फंसाया कांग्रेस का खेल

राज्यसभा चुनाव में फंस जाएंगे अजय माकन, मीडिया समूह के मालिक ने बढ़ा दी चिंता; समझें समीकरण

RS चुनाव में फंसेंगे माकन! कैसे मीडिया समूह के मालिक ने बढ़ा दी चिंता

JCCJ ने भरा नामांकन, पार्टी की अपील- BJP-कांग्रेस सुनें अंतरात्मा की आवाज, बाहरी प्रत्याशियों को राज्यसभा जाने से रोकें

JCCJ ने भरा नामांकन, पार्टी की अपील- BJP-कांग्रेस सुनें अंतरात्मा की आवाज

राज्यसभा टिकटों पर कांग्रेस में रार जारी, अब प्रमोद कृष्णम बोले- निराश करने वाले फैसले

RS पर कांग्रेस में रार जारी, प्रमोद कृष्णम बोले- निराश करने वाले फैसले

सुभाष चंद्रा बोले- राजस्थान मेरी जन्मभूमि 

डॉ. सुभाष चंद्रा ने खुद को राजस्थान का शुभचिंतक बताया और कहा कि राजस्थान में खुशहाली हो और डेवलपमेंट के लिहाज से आगे बढ़े यही मेरा विचार है। राजस्थान है जन्मभूमि, राजस्थानी भाषा में की ये अपीलः डॉक्टर सुभाष चंद्रा भले ही पिछली बार हरियाणा से राज्यसभा सांसद रहे हों, लेकिन उनकी जन्मभूमि राजस्थान ही है। फतेहपुर शेखावटी में आज भी उनका पैतृक मकान है। जिसमें वो आया जाया करते हैं। डॉक्टर चंद्रा ने राजस्थान के विधायकों से राजस्थानी भाषा में ही समर्थन देने की अपील की और कहा कि मैं राजस्थान के लिए नया नहीं हूं, राजस्थान से ही हूं। उन्होंने आश्वासन दिलाया कि राज्यसभा सदस्य के रूप में वे राजस्थान सरकार और यहां के लोगों के हित की जो भी बात होगी उसे पुरजोर तरीके से रखूंगा और अपना काम पूरा करूंगा।

भाजपा विधायक बने प्रस्तावक

आज डॉ. सुभाष चंद्रा ने भाजपा के समर्थन से निर्दलीय नामांकन दाखिल किया। उनके प्रस्तावक के रूप में विधायक चंद्रकांता मेघवाल, नरपत सिंह राजवी व वासुदेव देवनानी शामिल हुए। नामांकन दाखिल कराने के दौरान भी प्रतिपक्ष के उपनेता राजेंद्र राठौड़ सहित अन्य विधायक मौजूद रहे। इससे पहले ना पक्ष लॉबी में हुई भाजपा विधायक दल की बैठक में भी डॉ. सुभाष चंद्रा शामिल हुए और वहां पार्टी से जुड़े आला नेताओं ने उनका अभिवादन किया।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.