गहलोत ने महाराष्ट्र के सियासी संकट भाजपा पर साधा निशाना, सीएम ने कहा- मध्यप्रदेश, राजस्थान और अब महाराष्ट्र में हाॅर्स ट्रेडिंग


राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि पहले मध्यप्रदेश, राजस्थान और अब महाराष्ट्र में हाॅर्स ट्रेडिंग हो रही है। सीएम ने कहा कि हर राज्य का परिस्थिति अलग-अलग होती है। महाराष्ट्र की परिस्थिति सब देख रहे हैं। अब वहा क्या स्थिति बनती है। आने वाला वक्त बताएगा। पर ये परंपरा अच्छी नहीं है। मेरे दृष्टि से महाराष्ट्र में भी हाॅर्स ट्रेडिंग हो रही है। पहले मध्यप्रदेश फिर राजस्थान और अब महाराष्ट्र में, ये बहुत ही अशुभ संकेत है। देश के लिए और लोकतंत्र के लिए। जनता को समझना चाहिए। लोकतंत्र मे जनता ही माई-बाप होती है। जनता ही सरकार बनाती है। जनता ही घर भेजती है। जतना के ऊपर है कि वे किस रूप में देखती है। अब हिंदुत्व के नाम पर जो ये नारा दिया हुआ है। उसके नाम पर सपोर्ट मिल रहा है। लेकिन साथ में अन्य समस्याएं भी तो है। महंगाई है। बेरोजगारी है। अर्थव्यवस्था गर्त में जा रही है। 

पीएम मोदी बिना चर्चा के निर्णय लेते हैं 

सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि सेना में ये जो अग्निपथ लेकर आए है। एक नया प्रयोग है। सब को पूछकर करते। संसद में चर्चा होती। रिटायर्ड अफसरों से पूछते। अच्छे ढंग से स्कीम लागू हो सकती थी। उसको भी विवादास्पद बना दिया। ईडी, इनकम टैक्स और सीबीआई का दुरुपयोग कर रहे हैं। पूरे देश में चिंता का विषय होना चाहिए। हिंदू-मुस्लिम को लेकर राजनीति हो रही है। ठीक नहीं है। एक पक्ष घबराया हुआ है। देश के ये जो हालात है अच्छे नहीं है। लोगों को भी समझना चाहिए। सिर्फ हिंदू-मुस्लिम करने से ही देश का विकास नहीं होगा। हिंसा फैलेगी। जिससे देश का विकास रूक जाएगा। 

सीएम ने पूर्व विधायक की मूर्ति का किया अनावरण 

सीएम अशोक गहलोत ने आज सीकर जिले के लक्ष्मणगढ़ के कोठ्यारी में पूर्व विधायक सांवरमल मोर की मूर्ति का अनावरण और श्री श्रद्धा शिक्षा भवन (बालिका महाविद्यालय) का लोकार्पण किया। सीएम गहलोत ने जनसभा को भी संबोधित किया। बाद में मीडिया कर्मियों से बात करते हुए सीएम गहलोत ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। सीएम गहलोत ने कहा कि मोदी सरकार जांच एजेंसियों को दुरुपयोग कर रही है। विपक्ष की आवाज को दबाया जा रहा है। विपक्ष नहीं रहेगा तो देश का लोकतंत्र खतरे में पड़ जाएगा। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.