जोधपुर: रेल मंत्री वैष्णव बोले- 300 स्टेशन हाई स्पीड कॉरिडोर से जुड़ेंगे, 150 का होगा पुनर्विकास


ख़बर सुनें

केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने शनिवार को जोधपुर में कहा कि देश के 150 रेलवे स्टेशनों का पुनर्विकास किया जाएगा, जबकि 300 स्टेशनों को हाई स्पीड कॉरिडोर से जोड़ा जाएगा। वैष्णव ने यह बात जोधपुर में रेलवे स्टेशन पर एक भवन के शिलान्यास समारोह के दौरान संबोधित करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुझे यह बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है और इसके साथ ही मेरे पिता ने भी मेरे द्वारा हर यात्री के चेहरे पर मुस्कान लाने की कामना की है। उन्होंने कहा कि मैं दोनों की उम्मीदों पर खरा उतरने की पूरी कोशिश करूंगा।

बता दें कि रेल मंत्री का पदभार संभालने के बाद वैष्णव का यह पहला जोधपुर दौरा था। उन्होंने कहा कि पूरे देश में 150 रेलवे स्टेशनों का पुनर्विकास किया जाएगा, जिनमें से राजस्थान के आठ स्टेशनों को पहले चरण में विकसित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि राज्य में पुनर्विकास के लिए आठ स्टेशन जयपुर, गांधीनगर (जयपुर), जोधपुर, अजमेर, उदयपुर, जैसलमेर, बीकानेर और आबू रोड (सिरोही) हैं। उन्होंने आगे कहा कि 300 स्टेशनों को हाई स्पीड कॉरिडोर से जोड़ा जाएगा।

उन्होंने कहा कि रेल लाइनों के विद्युतीकरण का काम तेज गति से चल रहा है और इसे अगले डेढ़ साल में पूरा कर लिया जाएगा। विद्युतीकरण से आत्मनिर्भर भारत के सपने को पूरा करने में मदद मिलेगी।

विस्तार

केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने शनिवार को जोधपुर में कहा कि देश के 150 रेलवे स्टेशनों का पुनर्विकास किया जाएगा, जबकि 300 स्टेशनों को हाई स्पीड कॉरिडोर से जोड़ा जाएगा। वैष्णव ने यह बात जोधपुर में रेलवे स्टेशन पर एक भवन के शिलान्यास समारोह के दौरान संबोधित करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुझे यह बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है और इसके साथ ही मेरे पिता ने भी मेरे द्वारा हर यात्री के चेहरे पर मुस्कान लाने की कामना की है। उन्होंने कहा कि मैं दोनों की उम्मीदों पर खरा उतरने की पूरी कोशिश करूंगा।

बता दें कि रेल मंत्री का पदभार संभालने के बाद वैष्णव का यह पहला जोधपुर दौरा था। उन्होंने कहा कि पूरे देश में 150 रेलवे स्टेशनों का पुनर्विकास किया जाएगा, जिनमें से राजस्थान के आठ स्टेशनों को पहले चरण में विकसित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि राज्य में पुनर्विकास के लिए आठ स्टेशन जयपुर, गांधीनगर (जयपुर), जोधपुर, अजमेर, उदयपुर, जैसलमेर, बीकानेर और आबू रोड (सिरोही) हैं। उन्होंने आगे कहा कि 300 स्टेशनों को हाई स्पीड कॉरिडोर से जोड़ा जाएगा।

उन्होंने कहा कि रेल लाइनों के विद्युतीकरण का काम तेज गति से चल रहा है और इसे अगले डेढ़ साल में पूरा कर लिया जाएगा। विद्युतीकरण से आत्मनिर्भर भारत के सपने को पूरा करने में मदद मिलेगी।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.