दोस्त का प्रैंक वीडियो बनाने को महिलाओं का वेश धर पहुंचे थे दो लड़के, बच्चा चोर समझ मोहल्लेवालों ने की जमकर धुनाई


दो दोस्तों को अपने ही दोस्त को डराना और प्रैंक वीडियो बनाना उस वक्त भारी पड़ गया जब आसपास के लोगों ने उन्हें बच्चा चोर गिरोह के सदस्य समझ लिया। इसके बाद उन दोनों को पकड़कर उनकी जमकर धुनाई की गई और फिर मामला पुलिस तक जा पहुंचा। यह मामला राजस्थान में अजमेर के ब्यावर शहर का है।

महिलाओं के कपड़े पहनकर पहुंचे डराने

ब्यावर शहर में शुक्रवार को दो दोस्तों ने मिलकर अपने तीसरे दोस्त को डराने और उसका प्रैंक वीडियो बनाने की योजना बनाई थी। इसके लिए उन दोनों ने पहले महिलाओं के काले रंग के कपड़े पहने और फिर अपने दोस्त के घर जा पहुंचे, लेकिन दोस्त के पिताजी घर के बाहर ही बैठे थे इसलिए वह घर से थोड़ी दूर खड़े होकर उनके हटने का इंतजार कर रहे थे। इसी बीच, तभी मोहल्ले के लोगों की नजर दोनों लड़कों पर पड़ गई और उनको महिलाओं के लिबास में देखकर स्थानीय लोगों ने उन्हें बच्चा चोर गिरोह के सदस्य समझ लिया। फिर क्या था थोड़ी देर में मौके पर लोगों का जमघट लग गया और उन दोनों लड़कों को पकड़ कर लोगों ने उनकी जमकर धुनाई कर डाली। हालांकि, बाद में जब उन दोनों लड़कों के पहचान वाले मौके पर पहुंचे तो उन्होंने दोनों लड़कों को भीड़ से छुड़ाया तथा उनसे महिलाओं के कपड़े पहनने के बारे में कारण पूछा। जब उन लड़कों ने अपनी बात लोगों को बताई तब जाकर लोगों को थोड़ा विश्वास हुआ।

पुलिस भी मौके पर पहुंची  

दोनों लड़कों को बच्चा चोर गिरोह के सदस्य समझकर जब लोग उन्हें पीट रहे थे तभी किसी ने ब्यावर सिटी थाना पुलिस को फोन कर दिया। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों लड़कों को पकड़ कर उनसे पूछताछ की। लड़कों ने पुलिस को अपनी आपबीती बताई और कहा कि वह अपने दोस्त को डराने व प्रैंक वीडियो बनाने के लिए यहां आए थे। दोनों लड़कों की बातें सुनकर उनके परिजनों को मौके पर बुलाया गया तब जाकर पुलिस ने तसल्ली होने के बाद तथा परिजनों के कहने पर और लड़कों द्वारा माफी मांगने पर उन्हें छोड़ा गया।

ये भी पढ़ें : बारात में नहीं ले जाने पर दोस्त ने दूल्हे को भेजा मानहानि का नोटिस



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.