महाराष्ट्र सियासी संकट पर गहलोत-पूनिया में जुबानी जंग, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने दिलाई अनुच्छेद 356 के दुरुपयोग की याद


महाराष्ट्र में उद्वव ठाकरे की सरकार गिराने के सीएम गहलोत के आरोप पर राजस्थान भाजपा अध्यक्ष सतीश पूनिया ने पलटवार किया है। सतीश पूनिया ने ट्वीट कर लिखा- कहावत है कि नौ सो चूहे खाकर बिल्ली चली हज को। आपातकाल की तारीख याद आ रही है। 25 जून की काली रात। 19 महीनों की जेल यातनाएं। अनुच्छेद 356 का 100 से भी ज्यादा दुरुपयोग के समय से ही आप सत्ता में रहते आए हैं। जीप से लेकर बोफोर्स से कोयला और स्पेक्ट्रम तक को घोटालों के साक्षी हैं आप। उल्लेखनीय है कि आज सीएम गहलोत ने दिल्ली में मीडिया से बात करते हुए कहा कि राजस्थान राज्यसभा चुनाव में भाजपा को मुंह की खानी पड़ी। उनके  दिल में टीस थी कि कब मौका लगे, कब हम ईडी का उपयोग करें। डराएं-धमकाएं सीबीआई से। इनकम टैक्स से और वो ही देख रहे हैं आप। 2-2 मंत्री जेल में बैठे हैं। जमानत नहीं होने दी जा रही है। ये तमाम षड्यंत्र है। देश के अंदर लोकतंत्र को खत्म करने का। मोदी सरकार महाराष्ट्र सरकार को अस्थिर करने में लगी है। 

गहलोत बोले- मोदी सरकार का षड्यंत्र पूरे देश में ओपन हो गया 

सीएम गहलोत ने कहा कि मोदी सरकार का महाराष्ट्र में सरकार गिराने का षड्यंत्र पूरे देश में ओपन हो गया है। कैसे किया गया। कैसे सौदे हो रहे होंगे। हाॅर्स ट्रेडिंग हो रही होगी। वो तो वो जाने और उनकी आत्मा जानें। सीएम गहलोत ने कहा कि हर राज्य की अलग-अलग परिस्थितियां होती है। मध्यप्रदेश में सरकार गिराने का जो कुकर्म किया था। राजस्थान में भी प्रयोग करने जा रहे है, लेकिन समय रहते हुए हम समझ गए थे। सजग हो गए। हम सरकार को बचाने में कामयाब हो गए। सीएम गहलोत ने कहा कि महाराष्ट्र में भी जो मामला हुआ था, वो सबके सामने है। अचान शपथ करव दी गई साढ़े 6 बजे। शपथ लेने वाले देवेंद्र फडणवीस को बधाइयां मिलने लग गई थी। उन्होंने वापस ट्वीट किया कि मोदी है तो मुमकिन है। सीएम गहलतो ने ट्वीट कर लिखा- मतलब मोदी है तो मुमकिन सबकुछ है देश के अंदर। जुर्म भी है, अन्याय भी है। अत्याचार भी है। सबकुछ संभव है। 

राजस्थान में भाजपा ने 10-10 करोड़ का आॅफर दिया 

सीएम गहलो ने कहा कि  2-2 मंत्री जेल में बैठे हुए है। जमानत तक नहीं होने दी जा रही है। ये तमाम षडयंत्र है देश के अंदर लोकतत्र को खत्म करने का। हम बार-बार कह रह रहे हैं कि देश में लोकतंत्र खतरे में है। संविधान की धज्जियां उड़ाई जा रही है। हम सुनते है कि मध्यप्रदेश की सरकार ने 35-35 करोड़ के सौदे किए एक-एक विधायक से। सुनते हैं राजस्थान के अंदर 10-10 करोड़ रुपये थे बंट चुके हैं। पता नहीं क्या हुआ। सीएम गहलोत ने कहा कि इशारों में ही सचिन पायलट पर भी तंज कसा। गहलोत ने कहा कि मुझे गर्व है कि राजस्थान के विधायक बिके नहीं। 34 दिन तक मेरे साथ होटल में रहे। होटल में थे तब कुछ नहीं मिला। विधायक बाहर निकले तब 10 करोड़ रुपये की पहली किस्त का आॅफर था। तब भी कोई नहीं गया। सीएम ने कहा कि राजस्थान राज्यसभा चुनाव के अंदर तीन सीटों हम जीते हैं। 
 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.