राजस्थान: पाकिस्तान से विस्थापित लोगों को लगा कोरोना का टीका, आधार ना होने पर दिखाया पासपोर्ट


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जोधपुर
Published by: Tanuja Yadav
Updated Sun, 13 Jun 2021 08:52 AM IST

ख़बर सुनें

राजस्थान के जोधपुर में पाकिस्तान से विस्थापित होकर आए लोगों को पासपोर्ट दिखाने के बाद कोरोना वैक्सीन की डोज़ लगाई गई। एक व्यक्ति ने बताया, “वैक्सीन लगाने के लिए सरकार का बहुत धन्यवाद। हमारा आधार कार्ड नहीं बन रहा है फिर भी सरकार ने हमारे पासपोर्ट के आधार पर हमें वैक्सीन लगाई।”

बीकानेर में डोर टू डोर वैक्सीनेशन कैंपेन 
बता दें कि सोमवार से राजस्थान में घर-घर जाकर लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी। राजस्थान के बीकानेर से इसकी शुरुआत होगी। 14 जून से बीकानेर में डोर टू डोर कैंपेन शुरू होगा। इसके तहत 45+ उम्र के लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी। 

बता दें कि जानकारी के मुताबिक, डोर टू डोर कैंपेन में जब तक 10 लोगों का रजिस्ट्रेशन नहीं होगा, तब तक वैक्सीनेशन वैन रवाना नहीं होगी। ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि वैक्सीन की एक शीशी में दस लोगों को वैक्सीन लगाई जाती है, इसलिए 10 लोगों का रजिस्ट्रेशन जरूरी है। 

विस्तार

राजस्थान के जोधपुर में पाकिस्तान से विस्थापित होकर आए लोगों को पासपोर्ट दिखाने के बाद कोरोना वैक्सीन की डोज़ लगाई गई। एक व्यक्ति ने बताया, “वैक्सीन लगाने के लिए सरकार का बहुत धन्यवाद। हमारा आधार कार्ड नहीं बन रहा है फिर भी सरकार ने हमारे पासपोर्ट के आधार पर हमें वैक्सीन लगाई।”

बीकानेर में डोर टू डोर वैक्सीनेशन कैंपेन 

बता दें कि सोमवार से राजस्थान में घर-घर जाकर लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी। राजस्थान के बीकानेर से इसकी शुरुआत होगी। 14 जून से बीकानेर में डोर टू डोर कैंपेन शुरू होगा। इसके तहत 45+ उम्र के लोगों को कोरोना की वैक्सीन लगाई जाएगी। 

बता दें कि जानकारी के मुताबिक, डोर टू डोर कैंपेन में जब तक 10 लोगों का रजिस्ट्रेशन नहीं होगा, तब तक वैक्सीनेशन वैन रवाना नहीं होगी। ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि वैक्सीन की एक शीशी में दस लोगों को वैक्सीन लगाई जाती है, इसलिए 10 लोगों का रजिस्ट्रेशन जरूरी है। 





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.