राजस्थान में पांचवें दिन खत्म हुआ आरक्षण आंदोलन: कैबिनेट मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने दिलाया भरोसा, खुला नेशनल हाइवे


राजस्थान के भरतपुर में 12% आरक्षण की मांग के लिए बीते चार दिन से सैनी, माली, कुशवाहा, मौर्य शाक्य जातियों द्वारा किया जा रहा आंदोलन गुरुवार को खत्म हो गया। कैबिनेट मंत्री विश्वेन्द्र सिंह द्वारा की गई समझाइश के बाद आंदोलनकारी सहमत हो गए और आंदोलन को खत्म कर दिया। 

आंदोलनकारियों से यह बोले मंत्री
राजस्थान सरकार की तरफ से आंदोलनकारियों से बातचीत करने आए कैबिनेट मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने कहा कि आरक्षण की मांग को लेकर सैनी, माली, कुशवाहा, शाक्य, मौर्य जातियों के लोग चार दिन से आंदोलन कर रही थे। आंदोलनकारियों ने जयपुर-आगरा नेशनल हाईवे को जाम कर रखा था, जिससे लोगों को परेशानी हो रही थी। सिंह ने कहा, ‘मैंने आंदोलनकारियों को कहा है कि आपकी जो मांगें हैं, उनको मैं मुख्यमंत्री के सामने पेश करूंगा। मैं झूठा आश्वासन नहीं दूंगा, मैं सिर्फ मैसेंजर का काम करूंगा। इसके बाद आंदोलनकारियों ने आंदोलन को खत्म किया है जो सराहनीय है।’

यह बोले आंदोलनकारी नेता
भरतपुर सैनी समाज के अध्यक्ष रामेश्वर सैनी ने कहा कि हमारी तीन मागें हैं। पहली यह कि हमारी इन जातियों को राज्य में 12% आरक्षण दिया जाए। दूसरी आंदोलनकारियों पर लगे मुकदमे वापस लिए जाएं और तीसरी यह कि हमारी इन जातियों के लिए राज्य सरकार द्वारा अलग से जन कल्याणकारी योजना शुरू की जाए। उन्होंने कहा कि कैबिनेट मंत्री विश्वेन्द्र सिंह के आश्वासन के बाद हमने आंदोलन खत्म कर दिया है। 

संबंधित खबरें

कांग्रेस के नए संकट मोचक बने गहलोत, अध्यक्ष पद के लिए हो सकते हैं पसंद

बेरोजगारों ने किया पीसीसी कार्यालय का घेराव, जानिए उपेन यादव की मांगें  

राजस्थान में बेरोजगारों ने किया पीसीसी कार्यालय का घेराव, जानें मांगे

6 महीने में 50 लाख से ज्यादा के जेवर-नकदी चोरी हुए: पुलिस हुई फेल तो युवाओं ने उठाया गांव को चोरों से बचाने का बीड़ा, रातभर करते हैं गश्त

चोरों के सामने पुलिस हुई लाचार, लाठी ले रातभर गश्त लगाने लगे युवा

अग्निपथ स्कीम को लेकर राजस्थान में आरएलपी का प्रदर्शन, सांसद बेनीवाल बोले- स्कीम देशहित में नहीं  

अग्निपथ स्कीम को लेकर राजस्थान में आरएलपी का प्रदर्शन

पांचवें दिन खत्म किया आंदोलन
आंदोलनकारियों ने 12% आरक्षण की मांग के लिए बीते चार दिन से जयपुर-आगरा नेशनल हाईवे को जाम कर रखा था। कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल भी 5 दिन से मौके पर तैनात रहा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.