राजस्थान में वसुंधरा-पूनिया समर्थक भिड़े, वसुंधरा समर्थकों के साथ धक्का-मुक्की और गाली गलौज; जानें मामला


 

राजस्थान में पूर्व सीएम वसुंधरा राजे सिंधिया को सीएम फेस घोषित करने की मांग फिर उठी है। कोटा में दो दिवसीय प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में शामिल होने के लिए पूर्व सीएम वसुंधरा राजे कोटा पहुंचीं। बैठक में वसुंधरा राजे के मीडिया एडवाइजर और पर्सनल सिक्योरिटी गार्ड को अंदर जाने की इजाजत नहीं दी गई। वहां एंट्री को लेकर भाजपा नेता कार्यकर्ता भिड़ते और एक दूसरे के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते भी सुनाई दिए। कोटा के बूंदी रोड स्थित रिसॉर्ट में सुबह करीब 11 बजे वसुंधरा अपने समर्थकों के नारों के बीच दाखिल हुईं। एंट्री को लेकर भाजपा नेता कार्यकर्ता भिड़ते और एक दूसरे के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते भी सुनाई दिए। वसुंधरा समर्थक पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत को बैठक में शामिल होने के लिए एंट्री नहीं दी गई।

संबंधित खबरें

सचिन पायलट को दिल्ली पुलिस हिरासत में लिया, जानें मामला 

AICC कांग्रेस मुख्यालय पर एंट्री बंद करने पर भड़के गहलोत, कहा- बीजेपी की हरकत भारी पड़ेगी, जवाब देंगे

AICC मुख्यालय पर एंट्री बंद करने पर भड़के अशोक गहलोत 

15 दिन के लिए भगवान जगन्नाथ हुए क्वॉरेंटाइन, आम के रस का लगा भोग तो भगवान हो गए बीमार, इलाज में जुटे वैद्य

मैंगो जूस पीने से बीमार हुए भगवान, इलाज में जुटे वैद्य; 15 दिन के लिए क्वॉरेंटाइन

राज्यसभा चुनाव में क्राॅस वोटिंग करने पर भाजपा विधायक पर गिरी गाज, शोभारानी कुशवाह पार्टी से निष्कासित

क्राॅस वोटिंग करने पर विधायक शोभारानी कुशवाह भाजपा से निष्कासित

वसुंधरा को नेतृत्व सौंपने की मांग

वसुंधरा समर्थक पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत को बैठक में शामिल होने से रोक दिया गया। इससे वह नाराज हो गए। राजावत ने कहा कि वसुंधरा राजे को राजस्थान की कमान सौंप देना चाहिए। मोदी और वसुंधरा राजे के नेतृत्व में आने वाले समय में कायापलट होगी और परिवर्तन होगा। राजस्थान का नेतृत्व वसुंधरा राजे को दिया जाना चाहिए। कार्यकर्ता भी इसके लिए आतुर हैं। राजावात को बैठक में शामिल होने से रोक दिया गया। शहर के एक निजी होटल में बीजेपी की कार्यसमिति की बैठक शुरू हुई। बूंदी रोड़ स्थित अग्रवाल रिसोर्ट में आयोजित बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री व प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह, प्रदेश संगठन मंत्री चंद्रशेखर, प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, अर्जुनराम मेघवाल,कैलाश चैधरी, नेता प्रति पक्ष गुलाबचंद कटारिया,उप नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ समेत कई पदाधिकारी शामिल हुए। लेकिन कार्यसमिति की बैठक के बाहर जमकर हंगामा हो गया। 

गुलाब चंद कटारिया ने साधा कांग्रेस पर निशाना

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत पर निशाना साधा और कहा कि ईडी अगर राहुल गांधी से पुछताछ कर रही है तो इसमें घबराने वाली बात क्या है जो दिल्ली जाकर राजस्थान का नाम खराब करने की कोशिश की। राहुल गांधी से ईडी जो भी पूछताछ कर रही है वो उसका सही जवाब देने में डर रहे है और अपने नेता को बचाने के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत छवि खराब कर रहे है। इससे ज्यादा शर्म की बात ओर क्या होगी की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को हिरासत में लिया गया।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.