राज्यपाल कलराज मिश्र के प्रमुख सचिव आईएएस सुबीर कुमार साइबर ठगों के निशाने पर, नासिक से जुड़े तार!


राजस्थान में मंत्रियों को अफसरों के बाद अब राज्यपाल कलराज मिश्र साइबर ठगों के निशाने पर आ गए है। मिश्र के प्रमुख सचिव आईएएस सुबीर कुमार के नाम और फोटो का इस्तेमाल कर लोगों को ठगने की कोशिश करने का मामला सामने आया है। सुबीर कुमार ने सोडाला थाने में मामला दर्ज कराया है। सोडाला थानाधिकारी सतपाल सिंह ने बताया कि किसी व्यक्ति ने 9960507963 मोबाइल नंबर के वाट्सऐप पर सुबीर कुमार की फोटो, नाम एवं पद जोड़ रखा है। साथ ही लोगों को फेक प्रोफाइल से मैसेज भेज कर उनसे संपर्क करने का प्रयास किया जा रहा है। जानकारी मिलने पर सुबीर कुमार ने सोडाला थाने में शिकायत दर्ज कराई है। 

सुबीर कुमार की फेक प्रोफाइल बनाई

पुलिस के अनुसार जिस नंबर का प्रयोग कर सुबीर कुमार की फेक प्रोफाइल बनाई गई है। उस नंबर को ट्रूकॉलर पर सर्च करने पर खारदी, नागपुर निवासी फिरोज शेख का नाम आ रहा है। यानी कि सिम कार्ड नागपुर में जारी किया गया। हालांकि साइबर ठगों ने जिन दस्तावेज का इस्तेमाल कर सिम कार्ड जारी करवाया है। वह दस्तावेज फर्जी हैं या नहीं इसकी पड़ताल की जा रही है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मामले की जांच के बाद ही यह स्पष्ट हो सकेगा की ठगों ने किन-किन लोगों को मैसेज भेज कर ठगी की है या ठगी का प्रयास किया है। 

मंत्री भी आ चुके है साइबर ठगों के निशाने पर 

साइबर ठगों के निशाने पर पहले भी मंत्री और अफसर निशाने पर आ चुके हैं। हाल ही में कैबिनेट मंत्री गोविंद राम मेघवाल साइबर ठगों के निशाने पर आ गए थे। मामला थाने तक पहुंच गया था। राज्य मंत्री जाहिदा खान, मुख्य सचिव उषा शर्मा, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के प्रमुख सचिव आईएएस कुलदीप रांका, शासन सचिव आईएएस मुग्धा सिन्हा, डीजीपी एमएल लाठर और राजस्थान बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष संगीता बेनीवाल के नाम व फोटो का गलत इस्तेमाल कर फेक प्रोफाइल क्रिएट कर अलग-अलग विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों के साथ ठगी का प्रयास कर चुके हैं।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.