Nupur Sharma: जुमे की नमाज के बाद मुस्लिम समाज ने किया विरोध, मांग- नुपुर और नवीन की गिरफ्तारी हो  


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, भीलवाड़ा
Published by: उदित दीक्षित
Updated Fri, 10 Jun 2022 06:57 PM IST

ख़बर सुनें

पैगम्बर मोहम्मद पर नुपुर शर्मा की कथित टिप्पणी की आग अब राजस्थान भी पहुंच गई है। प्रदेश के भीलवाड़ा जिले में शुक्रवार को हजारों लोग कार्रवाई की मांग को लेकर सड़क पर उतर आए। जुमे की नमाज के बाद हजारों लोग सूचना केंद्र के बाहर जमा हुए और विरोध-प्रदर्शन किया। इस दौरान नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल की गिरफ्तार की मांग की गई। प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन ने मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर रखा था। 

मुस्लिम समाज के प्रदर्शन को देखते हुए सूचना केंद्र आसपास स्थित दुकानदारों ने अपनी दुकानों को बंद कर दिया था। हालांकि यहां किसी प्रकार की कोई भी अप्रिय घटना नहीं घटी। पुलिस प्रशासन भी पूरी तरह से मुश्तैद नजर आया। शहर के अलावा शाहपुरा, जहाजपुर, आसींद सहित अन्य उपखंड मुख्यालयों पर भी नुपुर और नवीन की गिरफ्तारी को लेकर प्रदर्शन कर ज्ञापन दिया गया।

जानिए क्यों हो रहा विवाद? 
वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद मामले पर हो रही एक टीवी बहस के दौरान नुपुर द्वारा की गई टिप्पणी पर विवाद शुरू हुआ है। 27 मई को बहस के दौरान भाजपा के प्रवक्ता के तौर पर नुपुर ने आरोप लगाया कि कुछ लोग हिंदू आस्था का लगातार मजाक उड़ा रहे हैं। अगर यही है तो वह भी दूसरे धर्मों का मजाक उड़ा सकती हैं। नुपुर ने इसी दौरान कुरान का जिक्र कर मोहम्मद साहब पर कथित टिप्पणी की। जिसपर विवाद शुरू हो गया। 

भाजपा ने की कार्रवाई 
नुपुर का वीडियो वायरल होने के बाद पांच जून को भाजपा ने नुपुर शर्मा को पार्टी के सभी पदों से हटाते हुए प्राथमिक सदस्यता से भी निलंबित कर दिया। उनके खिलाफ अलग-अलग जगहों पर एफआईआर दर्ज हो चुकी है। वहीं, नुपुर को मिल रहीं धमकियों को लेकर दिल्ली पुलिस ने भी एक मामला दर्ज किया है। दिल्ली पुलिस ने उन्हें सुरक्षा भी दी है।

विस्तार

पैगम्बर मोहम्मद पर नुपुर शर्मा की कथित टिप्पणी की आग अब राजस्थान भी पहुंच गई है। प्रदेश के भीलवाड़ा जिले में शुक्रवार को हजारों लोग कार्रवाई की मांग को लेकर सड़क पर उतर आए। जुमे की नमाज के बाद हजारों लोग सूचना केंद्र के बाहर जमा हुए और विरोध-प्रदर्शन किया। इस दौरान नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल की गिरफ्तार की मांग की गई। प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन ने मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर रखा था। 

मुस्लिम समाज के प्रदर्शन को देखते हुए सूचना केंद्र आसपास स्थित दुकानदारों ने अपनी दुकानों को बंद कर दिया था। हालांकि यहां किसी प्रकार की कोई भी अप्रिय घटना नहीं घटी। पुलिस प्रशासन भी पूरी तरह से मुश्तैद नजर आया। शहर के अलावा शाहपुरा, जहाजपुर, आसींद सहित अन्य उपखंड मुख्यालयों पर भी नुपुर और नवीन की गिरफ्तारी को लेकर प्रदर्शन कर ज्ञापन दिया गया।

जानिए क्यों हो रहा विवाद? 

वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद मामले पर हो रही एक टीवी बहस के दौरान नुपुर द्वारा की गई टिप्पणी पर विवाद शुरू हुआ है। 27 मई को बहस के दौरान भाजपा के प्रवक्ता के तौर पर नुपुर ने आरोप लगाया कि कुछ लोग हिंदू आस्था का लगातार मजाक उड़ा रहे हैं। अगर यही है तो वह भी दूसरे धर्मों का मजाक उड़ा सकती हैं। नुपुर ने इसी दौरान कुरान का जिक्र कर मोहम्मद साहब पर कथित टिप्पणी की। जिसपर विवाद शुरू हो गया। 

भाजपा ने की कार्रवाई 

नुपुर का वीडियो वायरल होने के बाद पांच जून को भाजपा ने नुपुर शर्मा को पार्टी के सभी पदों से हटाते हुए प्राथमिक सदस्यता से भी निलंबित कर दिया। उनके खिलाफ अलग-अलग जगहों पर एफआईआर दर्ज हो चुकी है। वहीं, नुपुर को मिल रहीं धमकियों को लेकर दिल्ली पुलिस ने भी एक मामला दर्ज किया है। दिल्ली पुलिस ने उन्हें सुरक्षा भी दी है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.