Rajasthan: कचौड़ी में छिपकली निकलने के मामले में आया नया मोड़, आरोप लगाने वाले दोनों युवक गिरफ्तार


ख़बर सुनें

जयपुर के प्रतिष्ठित मिष्ठान भंडार की कचौरी में छिपकली निकलने के मामले में एक नया मोड़ आ गया है। पुलिस ने छिपकली निकलने का दावा करने वाले दोनों युवको को शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोप है कि दोनों युवक मिष्ठान भंडार के मैनेजर को ब्लैकमेल कर रहे थे।

मिष्ठान भंडार के मैनेजर ने पुलिस को बताया है कि 19 जून को अखिल अग्रवाल और सुदीप अग्रवाल नामक दो व्यक्ति मिष्ठान भंडार से कचौरी खरीद कर ले गए थे। जिसके तकरीबन डेढ़ घंटे बाद दोनों युवक वापस दुकान पर पहुंचे और वहां मौजूद कर्मचारियों से दुकान के मालिक को बुलाने की बात कही। इस पर जब वहां मौजूद मैनेजर ने मामला पूछा तो दोनों युवकों ने बताया कि दुकान से खरीदी हुई कचौरी में छिपकली निकली है। जिसके वीडियो और फोटो उनके पास हैं। 

मैनेजर ने दुकान के मालिक के वहां नहीं होने की बात कही तो दोनों युवक शाम छह बजे वापस आकर बात करने की कहकर वहां से चले गए। जाते वक्त दोनों युवकों ने धमकी दी कि वह दुकान की छवि को सोशल मीडिया और समाचार पत्रों के माध्यम से धूमिल कर देंगे। इसके बाद शाम छह बजे दोनों युवक वापस दुकान पर पहुंचे, जिन्हें ऑफिस में बिठाकर मैनेजर ने बातचीत की। जब मैनेजर ने दोनों युवकों से कचौरी और उसमें निकली छिपकली दिखाने के लिए कहा तो दोनों युवक फोटो और वीडियो दिखाने लगे। 

मैनेजर का कहना है कि फोटो में दिख रही कचौरी दुकान में बनी कचौरी से बिल्कुल अलग दिखाई दे रही थी। जिस पर मैनेजर ने युवकों से कहा कि यह उनकी दुकान की कचौरी नहीं है। इस पर दोनों युवक दुकान की छवि को धूमिल करने की धमकी देकर वहां से चले गए और सोशल मीडिया पर फोटो और वीडियो वायरल कर दिए।

इसके बाद मंगलवार शाम फिर से दोनों युवक दुकान पर पहुंचे और दुकान मैनेजर को ब्लैकमेल करते हुए एक लाख रुपये की डिमांड की। जिस पर सौदा 51 हजार रुपये में तय किया गया और दोनों युवक 51 हजार रुपये का लिफाफा लेकर दुकान से चले गए। जिसके बाद मैनेजर ने दोनों युवकों पर ब्लैकमेल करने की शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस ने दोनों युवकों को गिरफ्तार कर लिया है। इसके अलावा युवकों की मोबाइल से मिले वीडियो की जांच की जा रही है।

विस्तार

जयपुर के प्रतिष्ठित मिष्ठान भंडार की कचौरी में छिपकली निकलने के मामले में एक नया मोड़ आ गया है। पुलिस ने छिपकली निकलने का दावा करने वाले दोनों युवको को शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोप है कि दोनों युवक मिष्ठान भंडार के मैनेजर को ब्लैकमेल कर रहे थे।


मिष्ठान भंडार के मैनेजर ने पुलिस को बताया है कि 19 जून को अखिल अग्रवाल और सुदीप अग्रवाल नामक दो व्यक्ति मिष्ठान भंडार से कचौरी खरीद कर ले गए थे। जिसके तकरीबन डेढ़ घंटे बाद दोनों युवक वापस दुकान पर पहुंचे और वहां मौजूद कर्मचारियों से दुकान के मालिक को बुलाने की बात कही। इस पर जब वहां मौजूद मैनेजर ने मामला पूछा तो दोनों युवकों ने बताया कि दुकान से खरीदी हुई कचौरी में छिपकली निकली है। जिसके वीडियो और फोटो उनके पास हैं। 


मैनेजर ने दुकान के मालिक के वहां नहीं होने की बात कही तो दोनों युवक शाम छह बजे वापस आकर बात करने की कहकर वहां से चले गए। जाते वक्त दोनों युवकों ने धमकी दी कि वह दुकान की छवि को सोशल मीडिया और समाचार पत्रों के माध्यम से धूमिल कर देंगे। इसके बाद शाम छह बजे दोनों युवक वापस दुकान पर पहुंचे, जिन्हें ऑफिस में बिठाकर मैनेजर ने बातचीत की। जब मैनेजर ने दोनों युवकों से कचौरी और उसमें निकली छिपकली दिखाने के लिए कहा तो दोनों युवक फोटो और वीडियो दिखाने लगे। 


मैनेजर का कहना है कि फोटो में दिख रही कचौरी दुकान में बनी कचौरी से बिल्कुल अलग दिखाई दे रही थी। जिस पर मैनेजर ने युवकों से कहा कि यह उनकी दुकान की कचौरी नहीं है। इस पर दोनों युवक दुकान की छवि को धूमिल करने की धमकी देकर वहां से चले गए और सोशल मीडिया पर फोटो और वीडियो वायरल कर दिए।


इसके बाद मंगलवार शाम फिर से दोनों युवक दुकान पर पहुंचे और दुकान मैनेजर को ब्लैकमेल करते हुए एक लाख रुपये की डिमांड की। जिस पर सौदा 51 हजार रुपये में तय किया गया और दोनों युवक 51 हजार रुपये का लिफाफा लेकर दुकान से चले गए। जिसके बाद मैनेजर ने दोनों युवकों पर ब्लैकमेल करने की शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस ने दोनों युवकों को गिरफ्तार कर लिया है। इसके अलावा युवकों की मोबाइल से मिले वीडियो की जांच की जा रही है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.