Rajasthan: कतर से आए नेपाली युवक ने 13 साल की लड़की को किया अगवा, बिहार के दरभंगा में पकड़ा गया, ऐसे की वारदात 


ख़बर सुनें

राजस्थान के दौसा की बांदीकुई पुलिस ने एक 13 साल की नाबालिग लड़की को आरोपी के चंगुल से छुड़ा लिया। पीड़िता फ्री फायर गेम के दौरान उसके संपर्क में आई थी। आरोपी कतर से आकर उसे अगवा कर ले गया था। पुलिस आरोपी युवक को बिहार के दरभंगा से गिरफ्तार कर लिया है। कोर्ट में पेश कर उसे सात दिन की रिमांड पर लिया है। साथ ही बच्ची को उसके परिजनों के सौंप दिया गया है।

दौसा एसपी राजकुमार गुप्ता ने बताया कि आरोपी इजराइल नदाफ पुत्र दाऊ मदाफ (25) जिला धनुषा नेपाल का रहने वाला है। वह कतर की एक इलेक्ट्रिक कंपनी में मजदूरी करता है। उन्होंने बताया कि पीड़ित के पिता ने 19 जून को बेटी के अगवा होने का केस दर्ज कराया था। पुलिस को दी रिपोर्ट में उन्होंने बताया कि उनकी 13 साल की बेटी पास की दुकान से कुरकुरे लेने गई थी। काफी देर तक वह वापस नहीं आई। इसके बाद उसकी तलाश शुरू की, लेकिन वह नहीं मिली।    

एसपी गुप्ता ने बताया, परिजनों से घटना की जानकारी जुटा कर बच्ची की तलाश शुरू की गई। साथ ही मामले की जांच को लेकर एक स्पेशल टीम गठित की गई। टीम घटना ने आसूचना संकलन, सोशल मीडिया और तकनिकी संसाधनों की मदद ली गई। मार्ग रूट तैयार कर सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए। जिसमें नाबालिग को एक अज्ञात युवक लेकर जाता दिखाई दिया। 
 
इस दौरान जांच में सामने आया कि नाबालिग बालिका मोबाइल पर फ्री फायर गेम खेलती थी। गेम से जुड़ी एक इंस्टाग्राम आईडी का तकनिकी विश्लेषण कर एक संदिग्ध इंस्टाग्राम आईडी को ट्रेक किया गया। जांच में खाड़ी देश कतर के मोबाइल नंबर से आईडी वेरिफाई हुई। साथ ही घटना वाले दिन वह आईडी के इंडिया के इंटरनेट से एक्टिव होने की बात सामने आई। 
 
इसके बाद संदिग्ध मोबाइल नंबर को ट्रैक किया गया, लेकिन सिम भी नई दिल्ली से फर्जी तरीके से खरीदना पाया गया। मोबाइल नंबर की इंटरनेट लोकेशन बिहार की आने पर टीम वहां के लिए रवाना की गई। टीम ने दरभंगा बिहार पहुंचकर नाबालिग बालिका और सीसीटीवी में कैद आरोपी को बस स्टैंड से दस्तयाब कर लिया। आरोपी युवक इजराइल नदाफ के पास से एक मोबाइल, कतर नंबर की सिम, नई दिल्ली से खरीदी गई फर्जी सिम, पासपोर्ट और नेपाल का नागारिकता प्रमाण पत्र बरामद किया गया है।

ऐसे दिया वारदात को अंजाम 
आरोपी इजराइज एक शातिर बदमाश है। घटना से एक दिन पहले 18 जून को वह कतर से फ्लाइट लेकर से नई दिल्ली आया था। वहां से इंस्टाग्राम आईडी के जरिए नाबालिग लड़की का पता निकालकर बांदीकुई आया। रात को रेलवे स्टेशन पर रहा और मैसेज के जरिए नाबालिग को ब्लैकमेल करता रहा। 19 जून को बालिका को अगवा कर अपने साथ ट्रेन से नई दिल्ली लेकर चला गया। वहां से बस से लेकर नेपाल जा रहा था, लेकिन पुलिस टीम ने दरभंगा बस स्टैंड पर दोनों को दस्तयाब कर लिया।

विस्तार

राजस्थान के दौसा की बांदीकुई पुलिस ने एक 13 साल की नाबालिग लड़की को आरोपी के चंगुल से छुड़ा लिया। पीड़िता फ्री फायर गेम के दौरान उसके संपर्क में आई थी। आरोपी कतर से आकर उसे अगवा कर ले गया था। पुलिस आरोपी युवक को बिहार के दरभंगा से गिरफ्तार कर लिया है। कोर्ट में पेश कर उसे सात दिन की रिमांड पर लिया है। साथ ही बच्ची को उसके परिजनों के सौंप दिया गया है।

दौसा एसपी राजकुमार गुप्ता ने बताया कि आरोपी इजराइल नदाफ पुत्र दाऊ मदाफ (25) जिला धनुषा नेपाल का रहने वाला है। वह कतर की एक इलेक्ट्रिक कंपनी में मजदूरी करता है। उन्होंने बताया कि पीड़ित के पिता ने 19 जून को बेटी के अगवा होने का केस दर्ज कराया था। पुलिस को दी रिपोर्ट में उन्होंने बताया कि उनकी 13 साल की बेटी पास की दुकान से कुरकुरे लेने गई थी। काफी देर तक वह वापस नहीं आई। इसके बाद उसकी तलाश शुरू की, लेकिन वह नहीं मिली।    

एसपी गुप्ता ने बताया, परिजनों से घटना की जानकारी जुटा कर बच्ची की तलाश शुरू की गई। साथ ही मामले की जांच को लेकर एक स्पेशल टीम गठित की गई। टीम घटना ने आसूचना संकलन, सोशल मीडिया और तकनिकी संसाधनों की मदद ली गई। मार्ग रूट तैयार कर सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए। जिसमें नाबालिग को एक अज्ञात युवक लेकर जाता दिखाई दिया। 

 

इस दौरान जांच में सामने आया कि नाबालिग बालिका मोबाइल पर फ्री फायर गेम खेलती थी। गेम से जुड़ी एक इंस्टाग्राम आईडी का तकनिकी विश्लेषण कर एक संदिग्ध इंस्टाग्राम आईडी को ट्रेक किया गया। जांच में खाड़ी देश कतर के मोबाइल नंबर से आईडी वेरिफाई हुई। साथ ही घटना वाले दिन वह आईडी के इंडिया के इंटरनेट से एक्टिव होने की बात सामने आई। 

 

इसके बाद संदिग्ध मोबाइल नंबर को ट्रैक किया गया, लेकिन सिम भी नई दिल्ली से फर्जी तरीके से खरीदना पाया गया। मोबाइल नंबर की इंटरनेट लोकेशन बिहार की आने पर टीम वहां के लिए रवाना की गई। टीम ने दरभंगा बिहार पहुंचकर नाबालिग बालिका और सीसीटीवी में कैद आरोपी को बस स्टैंड से दस्तयाब कर लिया। आरोपी युवक इजराइल नदाफ के पास से एक मोबाइल, कतर नंबर की सिम, नई दिल्ली से खरीदी गई फर्जी सिम, पासपोर्ट और नेपाल का नागारिकता प्रमाण पत्र बरामद किया गया है।

ऐसे दिया वारदात को अंजाम 

आरोपी इजराइज एक शातिर बदमाश है। घटना से एक दिन पहले 18 जून को वह कतर से फ्लाइट लेकर से नई दिल्ली आया था। वहां से इंस्टाग्राम आईडी के जरिए नाबालिग लड़की का पता निकालकर बांदीकुई आया। रात को रेलवे स्टेशन पर रहा और मैसेज के जरिए नाबालिग को ब्लैकमेल करता रहा। 19 जून को बालिका को अगवा कर अपने साथ ट्रेन से नई दिल्ली लेकर चला गया। वहां से बस से लेकर नेपाल जा रहा था, लेकिन पुलिस टीम ने दरभंगा बस स्टैंड पर दोनों को दस्तयाब कर लिया।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.