Rajasthan: कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर भर्ती परीक्षा का पेपर लीक, एसओजी ने किया केस दर्ज


न्यूूज डेस्क, अमर उजाला, जयपुर
Published by: रोमा रागिनी
Updated Thu, 16 Jun 2022 01:09 PM IST

ख़बर सुनें

राजस्थान में एक और परीक्षा का पेपर लीक हो गया। जयपुर के झोटवाड़ा थाना इलाके में स्थित एक और स्कूल से कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर (सीएचओ) भर्ती की 10 नवंबर 2020 को हुई परीक्षा का पेपर लीक हुआ है। जिसके बाद राजस्थान एसओजी ने मुकदमा दर्ज किया है। 

जागृति विद्या मंदिर उच्च माध्यमिक स्कूल उद्योग नगर निवारू रोड झोटवाड़ा से पेपर लीक हुआ है। इस स्कूल का संचालक धीरज शर्मा कांस्टेबल भर्ती पेपर लीक प्रकरण में पहले ही गिरफ्तार हो चुका है। बता दें कि झोटवाड़ा के दिवाकर पब्लिक स्कूल से कांस्टेबल भर्ती परीक्षा का पेपर लीक हुआ था। अब झोटवाड़ा के ही एक स्कूल से सीएचओ भर्ती परीक्षा का पेपर लीक होना उजागर हुआ है।

एसओजी ने जागृति स्कूल की परीक्षा के बाद जमा कराई गई सामग्री जांची। इसके बाद बनी जांच कमेटी ने सेंटर की ओर से जमा कराए उन अभ्यर्थियों के प्रश्न पत्र खंगाले, जो परीक्षा में अनुपस्थित रहे थे। जांच में सामने आया कि स्कूल ने ऐसे 18 पेपर वापस जमा कराए, जिनमें से दो पेपर की सील खुली हुई थी। जो छात्र परीक्षा में नहीं आए, परीक्षा से पहले उनके पेपर खोले गए और पेपर लीक कर दिया गया। एसओजी जांच में जुट गई है कि कांस्टेबल भर्ती परीक्षा और कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर परीक्षा का पेपर लीक एक ही गिरोह ने तो नहीं किया है।

विस्तार

राजस्थान में एक और परीक्षा का पेपर लीक हो गया। जयपुर के झोटवाड़ा थाना इलाके में स्थित एक और स्कूल से कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर (सीएचओ) भर्ती की 10 नवंबर 2020 को हुई परीक्षा का पेपर लीक हुआ है। जिसके बाद राजस्थान एसओजी ने मुकदमा दर्ज किया है। 


जागृति विद्या मंदिर उच्च माध्यमिक स्कूल उद्योग नगर निवारू रोड झोटवाड़ा से पेपर लीक हुआ है। इस स्कूल का संचालक धीरज शर्मा कांस्टेबल भर्ती पेपर लीक प्रकरण में पहले ही गिरफ्तार हो चुका है। बता दें कि झोटवाड़ा के दिवाकर पब्लिक स्कूल से कांस्टेबल भर्ती परीक्षा का पेपर लीक हुआ था। अब झोटवाड़ा के ही एक स्कूल से सीएचओ भर्ती परीक्षा का पेपर लीक होना उजागर हुआ है।

एसओजी ने जागृति स्कूल की परीक्षा के बाद जमा कराई गई सामग्री जांची। इसके बाद बनी जांच कमेटी ने सेंटर की ओर से जमा कराए उन अभ्यर्थियों के प्रश्न पत्र खंगाले, जो परीक्षा में अनुपस्थित रहे थे। जांच में सामने आया कि स्कूल ने ऐसे 18 पेपर वापस जमा कराए, जिनमें से दो पेपर की सील खुली हुई थी। जो छात्र परीक्षा में नहीं आए, परीक्षा से पहले उनके पेपर खोले गए और पेपर लीक कर दिया गया। एसओजी जांच में जुट गई है कि कांस्टेबल भर्ती परीक्षा और कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर परीक्षा का पेपर लीक एक ही गिरोह ने तो नहीं किया है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.