Rajasthan: जयपुर में बेरोजगारों का हल्ला बोल, पीसीसी का किया घेराव, बोले-आश्वासन नहीं फैसला चाहिए


न्यूूज डेस्क, अमर उजाला, जयपुर
Published by: रोमा रागिनी
Updated Thu, 16 Jun 2022 10:55 AM IST

ख़बर सुनें

पिछले कई दिनों से जयपुर के शहीद स्मारक पर चल रहा बेरोजगारों का धरना उग्र रूप लेता जा रहा है। अपनी मांगों को लेकर बेरोजगारों ने दिल्ली कूच किया। इस दौरान पुलिस ने उन्हें रोक दिया। जिसके बाद बेरोजगार युवकों और पुलिस के बीच भिड़ंत भी हुई।

बता दें कि बुधवार को भी पुलिस और इनके बीच टकराव हुआ था। जिसमें लाठीचार्ज भी किया गया था। टेक्निकल हेल्पर भर्ती के पदों की संख्या छह हजार करवाने, जूनियर अकाउंटेंट की भर्ती परीक्षा को सीईटी से बाहर रखते हुए सितंबर में ही आयोजित करवाने, पंचायत राज जेईएन भर्ती की विज्ञप्ति निकलवाने और प्रतियोगी परीक्षाों में बाहरी राज्यों के अभ्यर्थियों को कोटा निर्धारित करने या खत्म करने की मांग को लेकर 13 जून से शहीद स्मारक पर बेरोजगारों के महापड़ाव की शुरूआत हुई थी।

अब बेरोजगार संघ का कहना है कि हम सरकार की हर वार्ता में सम्मिलित हुए हैं। यूपी चुनाव के समय प्रियंका गांधी से मिलने पहुंचे थे। उसके बाद लखनऊ में समझौता भी हुआ लेकिन हमें कोई फायदा नहीं हुआ। सरकार से कई दौर की वार्ता हो चुकी है पर बात वहीं अटकी है। मुख्यमंत्री गहलोत से मिलने का समय ही नहीं दिया जाता है। जिसके बाद मुख्यमंत्री दिल्ली में व्यस्त है तो बेरोजगार संघ ने दिल्ली कूच की तैयारी कर ली थी पर पुलिस ने इनको दिल्ली जाने से रोक दिया।  

बेरोजगारों ने अब कांग्रेस मुख्यालय का घेराव किया है। आज कांग्रेस का राज भवन घेराव का कार्यक्रम है लेकिन बेरोजगार संघ के पीसीसी घेराव के चलते राजधानी जयपुर में राजनीतिक हलचल बढ़ गई है। प्रदेश के मंत्री महेश जोशी भी इनसे मिल चुके हैं और आश्वासन भी दिया है पर बेरोजगार संघ अब आश्वासन नहीं फैसले की मांग कर रहा है।

विस्तार

पिछले कई दिनों से जयपुर के शहीद स्मारक पर चल रहा बेरोजगारों का धरना उग्र रूप लेता जा रहा है। अपनी मांगों को लेकर बेरोजगारों ने दिल्ली कूच किया। इस दौरान पुलिस ने उन्हें रोक दिया। जिसके बाद बेरोजगार युवकों और पुलिस के बीच भिड़ंत भी हुई।


बता दें कि बुधवार को भी पुलिस और इनके बीच टकराव हुआ था। जिसमें लाठीचार्ज भी किया गया था। टेक्निकल हेल्पर भर्ती के पदों की संख्या छह हजार करवाने, जूनियर अकाउंटेंट की भर्ती परीक्षा को सीईटी से बाहर रखते हुए सितंबर में ही आयोजित करवाने, पंचायत राज जेईएन भर्ती की विज्ञप्ति निकलवाने और प्रतियोगी परीक्षाों में बाहरी राज्यों के अभ्यर्थियों को कोटा निर्धारित करने या खत्म करने की मांग को लेकर 13 जून से शहीद स्मारक पर बेरोजगारों के महापड़ाव की शुरूआत हुई थी।


अब बेरोजगार संघ का कहना है कि हम सरकार की हर वार्ता में सम्मिलित हुए हैं। यूपी चुनाव के समय प्रियंका गांधी से मिलने पहुंचे थे। उसके बाद लखनऊ में समझौता भी हुआ लेकिन हमें कोई फायदा नहीं हुआ। सरकार से कई दौर की वार्ता हो चुकी है पर बात वहीं अटकी है। मुख्यमंत्री गहलोत से मिलने का समय ही नहीं दिया जाता है। जिसके बाद मुख्यमंत्री दिल्ली में व्यस्त है तो बेरोजगार संघ ने दिल्ली कूच की तैयारी कर ली थी पर पुलिस ने इनको दिल्ली जाने से रोक दिया।  


बेरोजगारों ने अब कांग्रेस मुख्यालय का घेराव किया है। आज कांग्रेस का राज भवन घेराव का कार्यक्रम है लेकिन बेरोजगार संघ के पीसीसी घेराव के चलते राजधानी जयपुर में राजनीतिक हलचल बढ़ गई है। प्रदेश के मंत्री महेश जोशी भी इनसे मिल चुके हैं और आश्वासन भी दिया है पर बेरोजगार संघ अब आश्वासन नहीं फैसले की मांग कर रहा है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.