Rajasthan: दो बेटियों के साथ पेड़ पर लटका मिला किसान, दो दिन पहले ही ससुराल से आई थी बेटी  


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, बाड़मेर
Published by: उदित दीक्षित
Updated Fri, 17 Jun 2022 09:39 PM IST

ख़बर सुनें

राजस्थान के बाड़मेर में एक किसान ने अपने दो बेटियों के साथ आत्महत्या कर ली। शुक्रवार को उनके शव एक पेड़ से लटके हुए मिले। तीन शवों के पेड़ पर लटके होने की सूचना से इलाके सनसनी फैल गई। पुलिस को आशंका है कि पारिवारिक विवाद के चलते किसान ने बेटियों के साथ आत्महत्या की है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार घटना जिले के सणपा गांव की है। यहां किसान शंकराराम (55) ने अपनी दो बेटियों धुड़ी (15) और सुआ (30) के साथ आत्महत्या कर ली। आसपास के लोगों ने पेड़ से शव लटकते हुए देखे तो परिजनों और पुलिस को सूचना दी। पुलिस के अनुसार शुरुआती जांच में सामने आया कि गुरुवार रात को परिवार के लोगों बेटी सुआ को ससुराल भेजने की बात पर झगड़ा हुआ था। शंकराराम बेटी को ससुराल नहीं भेजना चाहता थे, लेकिन उनका बेटा उसे भेजने की जिद कर रहा था। 

दरअसल, ससुराल में हुए विवाद के बाद सुआ दो दिन पहले घर आ गई थी। उसका भाई खेताराम अपने पिता से उसे सुसराल भेजने की बात कह रहा था। इस बात को लेकर परिवार के लोगों में विवाद हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने सभी को समझाकर मामला शांत कराया। पारिवारिक विवाद होने के कारण कुछ देर बात पुलिस वापस लौट गई। सुबह तड़के शंकराराम ने अपनी दो बेटियों के साथ घर के पीछे खेत में लगे पेड़ से लटकर जान दे दी। लोगों ने शव लटके देखे तो पुलिस को सूचना दी। 

पुलिस ने बताया कि सुआ की शादी करीब दस साल पहले हुई थी। उसका एक आठ साल का बेटा भी है। कुछ दिन पहले ही वह सणेचा गांव निम्बलकोट से अपने मायके आई थी। पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।   

विस्तार

राजस्थान के बाड़मेर में एक किसान ने अपने दो बेटियों के साथ आत्महत्या कर ली। शुक्रवार को उनके शव एक पेड़ से लटके हुए मिले। तीन शवों के पेड़ पर लटके होने की सूचना से इलाके सनसनी फैल गई। पुलिस को आशंका है कि पारिवारिक विवाद के चलते किसान ने बेटियों के साथ आत्महत्या की है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार घटना जिले के सणपा गांव की है। यहां किसान शंकराराम (55) ने अपनी दो बेटियों धुड़ी (15) और सुआ (30) के साथ आत्महत्या कर ली। आसपास के लोगों ने पेड़ से शव लटकते हुए देखे तो परिजनों और पुलिस को सूचना दी। पुलिस के अनुसार शुरुआती जांच में सामने आया कि गुरुवार रात को परिवार के लोगों बेटी सुआ को ससुराल भेजने की बात पर झगड़ा हुआ था। शंकराराम बेटी को ससुराल नहीं भेजना चाहता थे, लेकिन उनका बेटा उसे भेजने की जिद कर रहा था। 

दरअसल, ससुराल में हुए विवाद के बाद सुआ दो दिन पहले घर आ गई थी। उसका भाई खेताराम अपने पिता से उसे सुसराल भेजने की बात कह रहा था। इस बात को लेकर परिवार के लोगों में विवाद हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने सभी को समझाकर मामला शांत कराया। पारिवारिक विवाद होने के कारण कुछ देर बात पुलिस वापस लौट गई। सुबह तड़के शंकराराम ने अपनी दो बेटियों के साथ घर के पीछे खेत में लगे पेड़ से लटकर जान दे दी। लोगों ने शव लटके देखे तो पुलिस को सूचना दी। 

पुलिस ने बताया कि सुआ की शादी करीब दस साल पहले हुई थी। उसका एक आठ साल का बेटा भी है। कुछ दिन पहले ही वह सणेचा गांव निम्बलकोट से अपने मायके आई थी। पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।   



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.