Rajasthan: रोहित जोशी से दिल्ली पुलिस ने की छह घंटे पूछताछ, आज फिर होंगे पेश


न्यूूज डेस्क, अमर उजाला, जयपुर
Published by: रोमा रागिनी
Updated Sat, 11 Jun 2022 01:24 PM IST

ख़बर सुनें

गहलोत सरकार के मंत्री महेश जोशी के बेटे रोहित जोशी पर दुष्कर्म केस में फंसे हैं। इस प्रकरण में शुक्रवार को वो अपने वकील के साथ दिल्ली के सदर बाजार थाने पहुंचे, जहां पर रोहित जोशी से करीब 6.30 घंटे तक लंबी पूछताछ की गई। वहीं रोहित को फिर से शनिवार को पूछताछ के लिए थाने बुलाया गया है।

रोहित जोशी पर एक युवती ने दुष्कर्म के साथ जबरन गर्भपात कराने जैसे कई गंभीर आरोप लगाए हैं। हालांकि, रोहित बार-बार युवती पर हनीट्रैप का आरोप लगाते आए हैं। दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट के निर्देश पर रोहित जोशी अपने वकील के साथ थाने पहुंचे हैं। इस पूरे प्रकरण की जांच कर रहे अनुसंधान अधिकारी ने रोहित को अपना मोबाइल फोन जब्त करवाने के लिए कहा है।

जांच अधिकारी ने सीआरपीसी की धारा 91 के तहत नोटिस देकर मोबाइल फोन पुलिस को जब्त कराने के लिए कहा है। नोटिस पर रोहित ने शुक्रवार को पुलिस को लिखित जवाब देते हुए मोबाइल फोन रविवार को पुलिस को सौंपने की बात लिखी है।

दिल्ली पुलिस रोहित के मोबाइल से चैट आदि साक्ष्य बरामद करेगी और उसके मोबाइल की फॉरेंसिक जांच करवाई जाएगी। फॉरेंसिक जांच के दौरान मोबाइल में छुपे हुए कई राज सामने आ सकते हैं। जिसके आधार पर जांच को आगे बढ़ाया जाएगा।

विस्तार

गहलोत सरकार के मंत्री महेश जोशी के बेटे रोहित जोशी पर दुष्कर्म केस में फंसे हैं। इस प्रकरण में शुक्रवार को वो अपने वकील के साथ दिल्ली के सदर बाजार थाने पहुंचे, जहां पर रोहित जोशी से करीब 6.30 घंटे तक लंबी पूछताछ की गई। वहीं रोहित को फिर से शनिवार को पूछताछ के लिए थाने बुलाया गया है।


रोहित जोशी पर एक युवती ने दुष्कर्म के साथ जबरन गर्भपात कराने जैसे कई गंभीर आरोप लगाए हैं। हालांकि, रोहित बार-बार युवती पर हनीट्रैप का आरोप लगाते आए हैं। दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट के निर्देश पर रोहित जोशी अपने वकील के साथ थाने पहुंचे हैं। इस पूरे प्रकरण की जांच कर रहे अनुसंधान अधिकारी ने रोहित को अपना मोबाइल फोन जब्त करवाने के लिए कहा है।


जांच अधिकारी ने सीआरपीसी की धारा 91 के तहत नोटिस देकर मोबाइल फोन पुलिस को जब्त कराने के लिए कहा है। नोटिस पर रोहित ने शुक्रवार को पुलिस को लिखित जवाब देते हुए मोबाइल फोन रविवार को पुलिस को सौंपने की बात लिखी है।


दिल्ली पुलिस रोहित के मोबाइल से चैट आदि साक्ष्य बरामद करेगी और उसके मोबाइल की फॉरेंसिक जांच करवाई जाएगी। फॉरेंसिक जांच के दौरान मोबाइल में छुपे हुए कई राज सामने आ सकते हैं। जिसके आधार पर जांच को आगे बढ़ाया जाएगा।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.