Sehore: 41 किलो डोडाचूरा के साथ राजस्थान के दो आरोपी गिरफ्तार, नसरुल्लागंज में बेचने जा रहे थे नशीला पदार्थ


ख़बर सुनें

सीहोर जिले की नसरुल्लागंज पुलिस ने एक कार से 41 किलो डोडाचूरा जब्त किया है। जब्त किए गए मादक पदार्थ की कीमत करीब सवा लाख रुपये आंकी जा रही है। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है, पकड़ा गया एक आरोपी दिव्यांग है। दोनों आरोपी राजस्थान से डोडाचूरा लाकर इछावर क्षेत्र में फुटकर में बेचते थे। आरोपी कम समय में अधिक पैसा कमाना चाहते थे, जिसके लिए वह इस धंधे में आए थे। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है, पुलिस को इनसे बड़े खुलासे की उम्मीद है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दो व्यक्ति सफेद रंग की टाटा टिआगो कार से अवैध डोडाचूरा इछावर से लेकर नसरुल्लागंज की ओर ले जा रहे थे। गाड़ी के सामने के बाए तरफ कांच पर अंग्रेजी में प्रेस लिखा हुआ था। चालक ने लाल रंग की शर्ट व बगल की सीट पर बैठे दिव्यांग ने सफेद कुर्ता पहन रखा था। सूचना पर शीघ्रता से झाली-भिलाई रोड, लाड़कुई पर नाकाबंदी की गई, तभी संदिग्ध वाहन इछावर तरफ आता हुआ दिखाई दिया। सफेद रंग की बिना नंबर वाली कार में बैठे आरोपियों ने पुलिस को देखकर भागने की कोशिश की, जिसे फोर्स की मदद से पकड़ा गया। नाम पता पूछने पर चालक ने अपना नाम शंकरलाल (45) पिता दौलतराम निवासी ग्राम पाडलिया थाना गंगधार जिला झालावाड़ और बगल की सीट पर बैठे दिव्यांद ने मदन सिंह (35) पिता कालू सिंह सौंधिया निवासी ग्राम जैताखेड़ी थाना गंगधार जिला झालावाड़ होना बताया।  

आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि उन्होंने साथी दीपक मेवाड़ा निवासी इछावर के साथ मिलकर माल खरीदा था, वे नसरुल्लागंज क्षेत्र में बेचने के लिए जा रहे थे। पुलिस ने गिरफ्तार कर अपराध सदर धारा 8/15 एनडीपीएस एक्ट पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया है। आरोपियों के पास से  2 काले रंग के प्लास्टिक के कट्टों में अवैध मादक पदार्थ डोडाचूरा, बिना नंबर की सफेद रंग की टाटा टिआगो कार जब्त की गई है। पुलिस आरोपियों को न्यायालय से रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है। आरोपी शंकरलाल व मदन से जब्त 41 किलो डोडाचूरा का बाजार मूल्य 1 लाख 23 हजार रुपये और वाहन कीमत 6,00,000 आंकी गई है। पूछताछ में सामने आया है कि आरोपी कम समय में अधिक पैसा कमाने की लालच में राजस्थान के किसी व्यक्ति से डोडाचूरा खरीदकर इछावर के दीपक मेवाड़ा के साथ गांव के आसपास फुटकार डोडाचूरा पीने वाले व्यक्तियों को बेचा करते थे। आरोपी ग्राहक खोज रहे थे, तभी मुखबिर ने पुलिस को बता दिया और  पकड़े गए।

विस्तार

सीहोर जिले की नसरुल्लागंज पुलिस ने एक कार से 41 किलो डोडाचूरा जब्त किया है। जब्त किए गए मादक पदार्थ की कीमत करीब सवा लाख रुपये आंकी जा रही है। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है, पकड़ा गया एक आरोपी दिव्यांग है। दोनों आरोपी राजस्थान से डोडाचूरा लाकर इछावर क्षेत्र में फुटकर में बेचते थे। आरोपी कम समय में अधिक पैसा कमाना चाहते थे, जिसके लिए वह इस धंधे में आए थे। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है, पुलिस को इनसे बड़े खुलासे की उम्मीद है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दो व्यक्ति सफेद रंग की टाटा टिआगो कार से अवैध डोडाचूरा इछावर से लेकर नसरुल्लागंज की ओर ले जा रहे थे। गाड़ी के सामने के बाए तरफ कांच पर अंग्रेजी में प्रेस लिखा हुआ था। चालक ने लाल रंग की शर्ट व बगल की सीट पर बैठे दिव्यांग ने सफेद कुर्ता पहन रखा था। सूचना पर शीघ्रता से झाली-भिलाई रोड, लाड़कुई पर नाकाबंदी की गई, तभी संदिग्ध वाहन इछावर तरफ आता हुआ दिखाई दिया। सफेद रंग की बिना नंबर वाली कार में बैठे आरोपियों ने पुलिस को देखकर भागने की कोशिश की, जिसे फोर्स की मदद से पकड़ा गया। नाम पता पूछने पर चालक ने अपना नाम शंकरलाल (45) पिता दौलतराम निवासी ग्राम पाडलिया थाना गंगधार जिला झालावाड़ और बगल की सीट पर बैठे दिव्यांद ने मदन सिंह (35) पिता कालू सिंह सौंधिया निवासी ग्राम जैताखेड़ी थाना गंगधार जिला झालावाड़ होना बताया।  

आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि उन्होंने साथी दीपक मेवाड़ा निवासी इछावर के साथ मिलकर माल खरीदा था, वे नसरुल्लागंज क्षेत्र में बेचने के लिए जा रहे थे। पुलिस ने गिरफ्तार कर अपराध सदर धारा 8/15 एनडीपीएस एक्ट पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया है। आरोपियों के पास से  2 काले रंग के प्लास्टिक के कट्टों में अवैध मादक पदार्थ डोडाचूरा, बिना नंबर की सफेद रंग की टाटा टिआगो कार जब्त की गई है। पुलिस आरोपियों को न्यायालय से रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है। आरोपी शंकरलाल व मदन से जब्त 41 किलो डोडाचूरा का बाजार मूल्य 1 लाख 23 हजार रुपये और वाहन कीमत 6,00,000 आंकी गई है। पूछताछ में सामने आया है कि आरोपी कम समय में अधिक पैसा कमाने की लालच में राजस्थान के किसी व्यक्ति से डोडाचूरा खरीदकर इछावर के दीपक मेवाड़ा के साथ गांव के आसपास फुटकार डोडाचूरा पीने वाले व्यक्तियों को बेचा करते थे। आरोपी ग्राहक खोज रहे थे, तभी मुखबिर ने पुलिस को बता दिया और  पकड़े गए।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.