Udaipur Murder Case Kanhaiyalal Killers Have Links With Pakistan Took 15 Days Training In Karachi – Udaipur Murder Case: कन्हैयालाल के हत्यारों का पाकिस्तान से कनेक्शन, कराची में ली थी 15 दिन की ट्रेनिंग


राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के मामले में नए-नए खुलासे हो रहे हैं। जांच में आरोपियों का पाकिस्तानी कनेक्शन भी सामने आया है। दोनों काराची भी गए थे। साथ ही वहां के कुछ नंबरों पर लगातार बात भी कर रहे थे। एनआईए ने हत्या के दोनों आरोपी मोहम्मद रियाज और मोहम्मद गौस से पूछताछ के बाद उनके खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। अब इस मामले की जांच एनआईए ही करेगी। 

रिपोर्ट्स के अनुसार जांच में कई अहम जानकारियां सामने आईं हैं जो आरोपियों का पाकिस्तानी से कनेक्शन बता रही हैं। आरोपी रियाज और गौस कराची गई थे। वहां दोनों ने करीब 15 दिन की ट्रेनिंग भी ली थी। यह ट्रेनिंग 2014-15 में ली गई है। दोनों पाकिस्तान में दावत-ए-इस्लाम संगठन से भी जुड़े हुए थे। कराची से वापस आने के बाद दोनों आरोपी समाज के युवाओं को लगातार अपने धर्म के लिए कट्टर रहने के लिए भी भड़का रहे थे। उन्होंने एक व्हाट्स ग्रुप भी बनाया था जिसमें भड़काऊ वीडियो और मैसेज भेजकर युवाओं का ब्रेन वॉश किया जा रहा था। 

पाकिस्तान के नंबरों पर हो रही थी बात  

आरोपियों के मोबाइल फोन की जांच में एनआईए को करीब दस संदिग्ध नंबर मिले हैं। इनकी लोकेशन पाकिस्तान और भारत में आ रही है। इन नंबरों पर आरोपियों की लगातार बात भी हो रही थी। दोनों पाकिस्तान के एक मौलाना के भी संपर्क में थे। सीएम अशोक गहलोत ने भी आरोपियों के पाकिस्तान और अरब देशों से संपर्क में होने की बात कही है। 

हत्या ही नहीं, दहशत फैलाना की भी थी योजना  

मोहम्मद रियाज और मोहम्मद गौस दर्जी कन्हैलाल की सिर्फ हत्या नहीं करना चाहते थे। हत्या के साथ-साथ उनकी योजना पूरे देश में दहशत फैलाने की थी। इसी योजना के तहत उन्होंने हत्या का लाइव वीडियो बनाया। साथ ही हत्या कर फरार होने के बाद भी वीडियो बनाया और उसमें मर्डर करने की बात कबूल की। हत्या को उन्होंने इस्लाम धर्म का अपमान करने की सजा भी बताया।  

घटना स्थल पर पहुंची एनआईए की टीम 

आज बुधवार को पुलिस, एनआईए, एसआईटी, एफएसएल और एटीएस की टीमें दर्जी की दुकान पर भी पहुंची। जांन एजेंसियों ने यहां जांच कर सबूत जुटाए साथ ही आसपास के लोगों से भी पूछताछ की है। एनआईए की टीम ने उदयपुर में कन्हैयालाल के साथ काम करने वाले राजकुमार से भी पूछताछ की है।

जानें क्या है मामला? 

दरअसल, हत्या का मामला शहर के धानमंडी इलाके के भूत महल क्षेत्र का है। यहां रहने वाला कन्हैयालाल दर्जी है और अपनी दुकान चलाता है। मंगलवार को दो मुस्लिम युवक कपड़े का नाप देने के बहाने दर्जी की दुकान पर पहुंचे और उस पर गड़ासे से वार करना शुरू कर दिया। ताबड़तोड़ हमलों ने उसे संभलने का मौका तक नहीं दिया। उसकी गर्दन कट गई और मौके पर ही मौत हो गई। हमले में दुकान पर काम करने वाला उसका साथी ईश्वर सिंह भी गंभीर रूप से घायल हो गया। शहर के एमबी अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.