ओवैसी ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल पर साधा निशाना, कहा- अजित डोभाल को बताना चाहिए कट्टरवादी कौन है


AIMIM चीफ असद्दुदीन ओवैसी ने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल पर निशाना साधा है। जयपुर में मीडिया से बात करते हुए कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को बताना चाहिए कि कट्टरता कौन फैला रहा है। कट्टर कौन है। उनके नाम डोभाल को बताना चाहिए। ओवैसी ने एक बार फिर दोहराया कि उदयपुर की घटना गहलोत सरकार की विफलता है। कन्हैया लाल टेलर ने अपनी जान का खतरा बताते हुए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। लेकिन पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। एक सवाल के जवाब में ओवैसी ने कहा कि उन्हें इंद्रेश कुमार से देशभक्ति का सर्टिफिकेट नहीं चाहिए। इंद्रेश कुमार को बतान चाहिए संघ की शाखाओं में शपथ संविधान की ली जाती है या फिर किसी और पर। जनता को बताना चाहिए कि उस शपथ में क्या पढ़ा जाता है। उल्लेखनीय है कि हाल ही में अजित डोभाल ने कहा कि पीएफआई जैसे संगठन देश के लिए खतरा है।

ओवैसी जयपुर में टाॅक जर्नलिज्म के फाइलन सेशन में हुए शामिल

दरअसल, ओवेसी आज जयपुर में टाॅक जर्नलिज्म के फाइलन सेशन में शामिल होने के लिए जयपुर आए थे। सेशन में भाकपा नेता ए राजा और विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी मुख्य वक्ता थे। जयपुर प्रवास के दौरान ओवैसी ने पार्टी पदाधिकारियों संग विधानसभा चुनाव 2023 की रणनीति पर भी मंथन किया। अपने समर्थकों संग ओवैसी ने चर्चा की। उल्लेखनीय है कि ओवैसी पहले ही घोषणा कर चुके है कि उनकी पार्टी राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 का चुनाव लड़ेगी। ऐसे में ओवैसी का राजस्थान दौरा काफी अहम माना गया है। क्योंकि राजस्थान में 11 से 12% मुस्लिम आबादी है। परंपरागत तौर कांग्रेस का वोट बैंक रहा है, लेकिन राजस्थान की सियासत में ओवैसी की एंट्री से विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के समीकरण बिगड़ सकते है। करीब दो महीने पहले ओवैसी ने राजस्थान का दौरा किया था। ओवैसी का दो महीने बाद राजस्थान आना साफ संकेत देता है कि वह पार्टी का संगठन खड़ा करेंगे।

ओवैसी का फोकस विधानसभा चुनाव 2023 पर

दो महीने पहले ओवैसी ने जयपुर में मीडिया से बात करते हुए कहा कि उनकी पार्टी राजस्थान में संगठन खड़ा करेगी। अभी छह सदस्यों की कोर कमेटी बनाई जाएगी। राजस्थान में सदस्यता अभियान राजस्थान में चलाया जाएगा। कई जगहों पर जनसभाएं आयोजित की जाएंगी। उसके बाद प्रदेश में एक मजबूत एआईएमईएम का संगठन खड़ा किया जाएगा। राजस्थान में हारने या जीतने नहीं बल्कि लीडरशिप पैदा करने आ रहे हैं। ओवैसी ने कहा कि हमारी पार्टी की राज्य इकाई राजस्थान में मुस्लिम और दलित समुदायों पर ध्यान केंद्रित करेगी। हमारी तैयारी जोरों पर है और हम समुदाय के लोगों के साथ बैठक कर रहे हैं। वह आगे बोले कि वर्तमान में मुसलमानों का एक स्वतंत्र नेतृत्व बनाने की जरूरत है। हमारी पार्टी राज्य में इस समुदाय के लोगों की आवाजों को एक मंच देगी।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.