Dress Code Controversy After Neet 2022 Bra Controversy Reet Candidates Forced To Remove Dupattas – Controversy 2022: Neet के बाद अब Reet में बेटियां शर्मसार! उतरवाए गए दुपट्टे और …


REET 2022 Dress Code Controversy: करिअर बनाने के लिए देश की बेटियों के मजबूरन शर्मिंदा होने के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। एक के बाद एक लगातार ऐसी घटनाएं हो रही हैं। इसी 17 जुलाई को मेडिकल दाखिलों के लिए होने वाली परीक्षा नीट में शामिल होने के लिए छात्रों को इनरवियर उतारने के लिए मजबूर करने का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि इस बीच, एक और परीक्षा में एक बार फिर बेटियों को शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा है। अबकी बार मामला केरल का नहीं बल्कि राजस्थान का है। जहां राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी रीट के दौरान छात्राओं और महिलाओं को जांच प्रक्रिया के नाम पर शर्मसार होना पड़ा है। 

मंगलसूत्र और चूड़ियां भी उतरवाईं, कुर्ते व सूट पर चली कैचियां 

रिपोर्ट्स के मुताबिक, राजस्थान में कई परीक्षा केंद्रों पर लड़कों और महिलाओं के लिए अलग-अलग कतारें लगवाकर व्यक्तिगत रूप से जांच की गई। जांच के दौरान चप्पल और जूते भी बाहर उतार दिए गए। छात्राओं को दुप्पट्टे उतारने के लिए मजबूर किया गया तो विवाहित महिला उम्मीदवारों को सुहाग की निशानी मंगलसूत्र, चूड़ियां, चेन, ब्रेसलेट कंगन और हेयर क्लिप तक उतरवा लिए गए। वहीं, जिन महिलाओं के कुर्ते या सूट के बटन लगे थे, उन्हें भी कैंची से काटा गया। इतना ही नहीं छात्रों को अपने जख्मों से पट्टी हटाने को कहा गया। इससे अभ्यर्थियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।  

 

केरल में NEET परीक्षा के दौरान उतरवाई गई इनरवियर

इससे पहले 17 जुलाई को आयोजित नीट यूजी 2022 की परीक्षा के दौरान छात्राओं को परीक्षा जांच के दौरान ही ब्रा और इनरवियर उतारने के लिए मजबूर किया गया था। जांचकर्मियों ने ब्रा के हुक पर आपत्ति जताते हुए छात्राओं को उसे पहनकर परीक्षा में प्रवेश देने से इनकार कर दिया था। मजबूरी में छात्राओं ने बिना इनरवियर के परीक्षा दी। इस दौरान सैकड़ों छात्राओं का मानसिक आघात और शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा। हालांकि, बाद में पुलिस में शिकायत और राष्ट्रीय महिला आयोग तथा केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय के दखल के बाद केरल के कोल्लम जिले के एक निजी शैक्षणिक संस्थान में जांच प्रक्रिया के दौरान तैनात सात कर्मियों को गिरफ्तार किया गया है। 

 

23 और 24 जुलाई को हो रही शिक्षक पात्रता परीक्षा

राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा (REET) 2022 शनिवार, 23 जुलाई को शुरू हुई। राजस्थान में शिक्षक भर्ती पात्रता के लिए रीट परीक्षा 23 और 24 जुलाई, 2022 को दो सत्रों में आयोजित की जा रही है। रीट लेवल-1 परीक्षा कक्षा एक से पांचवीं तक के छात्रों को पढ़ाने के लिए उम्मीदवारों की नियुक्ति के लिए है। जबकि रीट लेवल-2 परीक्षा कक्षा छह से आठवीं तक के छात्रों को पढ़ाने के लिए उम्मीदवारों को नियुक्ति के लिए होती है। रीट भर्ती परीक्षा के केंद्रों में उम्मीदवारों की एंट्री को लेकर काफी सख्ती बरती गई। 

 

परीक्षा केंद्रों पर सुबह से तैनात थी पुलिस

रीट परीक्षा केंद्रों पर सुबह से ही पुलिस की टीमें तैनात कर दी गई थीं। सुबह छह बजे से ही उम्मीदवारों का आना शुरू हो गया था। परीक्षा केंद्र में सुबह साढ़े आठ बजे से उम्मीदवारों को प्रवेश दिया गया, लेकिन इससे पहले उम्मीदवारों को चेकिंग परीक्षा से गुजरना पड़ा। कई लोगों के घाव पर लगी पट्टी भी हटवाई गई। इससे उम्मीदवारों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। उम्मीदवारों ने सबसे पहले परीक्षा केंद्र के बाहर रोल नंबर की सूची पर अपने रोल नंबर के साथ कमरा नंबर चेक किया। 

 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.