India-Pakistan border: श्रीगंगानगर में बॉर्डर के पास दिखे तीन ड्रोन, बीएसएफ ने की फायरिंग, सर्च अभियान जारी


ख़बर सुनें

राजस्थान के श्री गंगानगर जिले से सटी भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने एक ड्रोन देखा। भारतीय सीमा में ड्रोन के आने पर जवानों ने उस पर फायरिंग की। कुछ देर बात ड्रोन दिखाई देना बंद हो गया। बताया जा रहा है कि सीमा पर मंगलवार रात को अलग-अलग समय में तीन जगह ड्रोन देखे गए है। पहला ड्रोन रात 9:30 बजे अनूपगढ़, दूसरा रात 10:30 बजे श्रीकरणपुर और तीसरा ड्रोन सुबह 4:30 बजे घड़साना में देखा गया है। 

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि मंगलवार देर रात श्री गंगानगर जिले के घरसाना सेक्टर के पास सुबह करीब 4:30 बजे  एक ड्रोन को उड़ते हुए देखा गया। पेट्रोलिंग टीम ने ड्रोन की तरफ कई राउंड फायरिंग की। इसके बाद ड्रोन दिखाई देना बंद हो गया। ऐसे में या तो वह गोली लगने से नीचे गिर गया या फिर पाकिस्तान की सीमा में वापस चला गया। इससे पहले अनूपगढ़ और श्रीकरणपुर में भी ड्रोन को उड़ते हुए देखा गया था।  बीएसएफ के अधिकारी ने बताया कि, सीमा के पास ड्रोन उड़ने की जानकारी स्थानीय पुलिस को भी दी गई है। बीएसएफ की टीमें पुलिस के साथ मिलकर तलाशी अभियान चला रही हैं।
 

पांच पैकेट हेरोइन जब्त, दो तस्कर गिरफ्तार
इसके अलावा बीएसएफ, पुलिस और सीआईडी ने संयुक्त कार्रवाई कर श्रीकरणपुर बॉर्डर से 5 पैकेट हेरोइन भी बमराद की है। साथ ही बॉर्डर एरिए से हेरोइन की खेप लेन आए दो तस्करों को भी गिरफ्तार किया गया है। जांच एजेंसियों को देखते ही तस्करों ने भागने का प्रयास किया, लेकिन पंजाब बॉर्डर के पास से उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। गंगनहर के शिवपुर हेड के पास से उनकी कार भी बरामद की गई है। बीएसएफ, पुलिस और सीआईडी की टीमें बॉर्डर एरिए में सर्च अभियान भी चला रहीं हैं।

19 जुलाई को पकड़ा गया था आतंकवादी 
बता दें कि इससे पहले 19 जुलाई को बीएसएफ ने एक पाकिस्तानी नागरिक रिजवान को गिरफ्तार किया था। भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा की हत्या करने के लिए वह सीमा पार श्रीगंगानगर आया था। जिले के बॉर्डर एरिया से उसे गिरफ्तार किया गया था। आरोपी ने पूछताछ में बताया था कि ‘तहरीक-ए-लब्बैक’ नाम के  पाकिस्तानी संगठन ने नुपुर शर्मा को मारने की योजना बनाई है। तहरीक-ए-लब्बैक से प्रभावित होकर उसने भारत आकर नुपुर की हत्या करने की योजना बनाई थी, लेकिन उसे गिरफ्तार कर लिया गया था।  खुफिया ब्यूरो, सीआईडी, सीमा सुरक्षा बल, भारतीय सेना और स्थानीय पुलिस सहित कई एजेंसियां रिजवान से लगातार पूछताछ कर रही हैं।  

विस्तार

राजस्थान के श्री गंगानगर जिले से सटी भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने एक ड्रोन देखा। भारतीय सीमा में ड्रोन के आने पर जवानों ने उस पर फायरिंग की। कुछ देर बात ड्रोन दिखाई देना बंद हो गया। बताया जा रहा है कि सीमा पर मंगलवार रात को अलग-अलग समय में तीन जगह ड्रोन देखे गए है। पहला ड्रोन रात 9:30 बजे अनूपगढ़, दूसरा रात 10:30 बजे श्रीकरणपुर और तीसरा ड्रोन सुबह 4:30 बजे घड़साना में देखा गया है। 

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि मंगलवार देर रात श्री गंगानगर जिले के घरसाना सेक्टर के पास सुबह करीब 4:30 बजे  एक ड्रोन को उड़ते हुए देखा गया। पेट्रोलिंग टीम ने ड्रोन की तरफ कई राउंड फायरिंग की। इसके बाद ड्रोन दिखाई देना बंद हो गया। ऐसे में या तो वह गोली लगने से नीचे गिर गया या फिर पाकिस्तान की सीमा में वापस चला गया। इससे पहले अनूपगढ़ और श्रीकरणपुर में भी ड्रोन को उड़ते हुए देखा गया था।  बीएसएफ के अधिकारी ने बताया कि, सीमा के पास ड्रोन उड़ने की जानकारी स्थानीय पुलिस को भी दी गई है। बीएसएफ की टीमें पुलिस के साथ मिलकर तलाशी अभियान चला रही हैं।

 

पांच पैकेट हेरोइन जब्त, दो तस्कर गिरफ्तार

इसके अलावा बीएसएफ, पुलिस और सीआईडी ने संयुक्त कार्रवाई कर श्रीकरणपुर बॉर्डर से 5 पैकेट हेरोइन भी बमराद की है। साथ ही बॉर्डर एरिए से हेरोइन की खेप लेन आए दो तस्करों को भी गिरफ्तार किया गया है। जांच एजेंसियों को देखते ही तस्करों ने भागने का प्रयास किया, लेकिन पंजाब बॉर्डर के पास से उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। गंगनहर के शिवपुर हेड के पास से उनकी कार भी बरामद की गई है। बीएसएफ, पुलिस और सीआईडी की टीमें बॉर्डर एरिए में सर्च अभियान भी चला रहीं हैं।

19 जुलाई को पकड़ा गया था आतंकवादी 

बता दें कि इससे पहले 19 जुलाई को बीएसएफ ने एक पाकिस्तानी नागरिक रिजवान को गिरफ्तार किया था। भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा की हत्या करने के लिए वह सीमा पार श्रीगंगानगर आया था। जिले के बॉर्डर एरिया से उसे गिरफ्तार किया गया था। आरोपी ने पूछताछ में बताया था कि ‘तहरीक-ए-लब्बैक’ नाम के  पाकिस्तानी संगठन ने नुपुर शर्मा को मारने की योजना बनाई है। तहरीक-ए-लब्बैक से प्रभावित होकर उसने भारत आकर नुपुर की हत्या करने की योजना बनाई थी, लेकिन उसे गिरफ्तार कर लिया गया था।  खुफिया ब्यूरो, सीआईडी, सीमा सुरक्षा बल, भारतीय सेना और स्थानीय पुलिस सहित कई एजेंसियां रिजवान से लगातार पूछताछ कर रही हैं।  



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.