Rajasthan: कुछ ही मिनटों में आग का गोला बनी चलती स्कूल बस, ड्राइवर की सूझबूझ से बाल-बाल बचे बच्चे


ख़बर सुनें

भीलवाड़ा जिले के कारोई थाना क्षेत्र में मुजरास टोल के पास सोमवार को स्कूली बच्चों से भरी एक बस में अचानक आग लग गई। इस दौरान कोई जनहानि नहीं हुई है। आग लगने की वजह से साफ नहीं हो सकी है। आग की चपेट में आने से बस पूरी तरह जलकर खाक हो गई है।

नेशनल हाईवे से जा रही थी बस सोमालिसा स्कूल
भीलवाड़ा उदयपुर नेशनल हाईवे के आस-पास स्थित गावों से छात्रों को लेकर बस गंगापुर के सोमालिया स्कूल जा रही थी। जब बस मुजरास टोल के पास पहुंची, तभी उसमें अचानक आग लग गई। बस चालक ने सूझबूझ का परिचय देते हुए बस को साइड में रोक दिया। सभी बच्चों व बस में सवार स्कूल स्टाफ को नीचे उतारकर सुरक्षित बचा लिया। सूचना मिलने पर दमकल विभाग और नेशनल हाईवे पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। कारोई एसएचओ हरपाल सिंह ने बताया कि आग पर काबू पाने के लिए दमकल की दो गाड़ियों को मौके पर बुला लिया गया। हालांकि, दमकल की गाड़ियां पहुंचने से पहले ही अधिकांश बस जल चुकी थी।   
 
बस में सवार थे 11 स्कूली बच्चे और 8 शिक्षक 
ड्राइवर देबीसिंह ने बताया कि हादसे के दौरान 11 स्कूली बच्चे व 8 शिक्षक बस में मौजूद थे। टोल के बाद भी बस में अन्य बच्चों को बैठाया जाना था। पुलिस का कहना है कि सोमालिया स्कूल की बस रोजाना गावों से बच्चों को लेकर गंगापुर पहुंचती है। चालक की सूझबूझ की वजह से बड़ा हादसा होने से तो बच गया, लेकिन बसों की फिटनेस को लेकर भी कई सवाल खड़े हो गए हैं। 

परिजनों ने ली राहत का सांस
स्कूल बस में आग की सूचना मिलने पर परिजन भी मौके पर पहुंच गए। बच्चों को बच्चों को सुरक्षित पाकर सभी ने राहत की सांस ली है। स्कूल प्रबंधन ने कहा है कि शॉर्ट सर्किट से आग लगने का कारण ड्राइवर द्वारा बताया जा रहा है। अन्य वाहनों का परीक्षण भी करवाया जा रहा है।

विस्तार

भीलवाड़ा जिले के कारोई थाना क्षेत्र में मुजरास टोल के पास सोमवार को स्कूली बच्चों से भरी एक बस में अचानक आग लग गई। इस दौरान कोई जनहानि नहीं हुई है। आग लगने की वजह से साफ नहीं हो सकी है। आग की चपेट में आने से बस पूरी तरह जलकर खाक हो गई है।

नेशनल हाईवे से जा रही थी बस सोमालिसा स्कूल

भीलवाड़ा उदयपुर नेशनल हाईवे के आस-पास स्थित गावों से छात्रों को लेकर बस गंगापुर के सोमालिया स्कूल जा रही थी। जब बस मुजरास टोल के पास पहुंची, तभी उसमें अचानक आग लग गई। बस चालक ने सूझबूझ का परिचय देते हुए बस को साइड में रोक दिया। सभी बच्चों व बस में सवार स्कूल स्टाफ को नीचे उतारकर सुरक्षित बचा लिया। सूचना मिलने पर दमकल विभाग और नेशनल हाईवे पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। कारोई एसएचओ हरपाल सिंह ने बताया कि आग पर काबू पाने के लिए दमकल की दो गाड़ियों को मौके पर बुला लिया गया। हालांकि, दमकल की गाड़ियां पहुंचने से पहले ही अधिकांश बस जल चुकी थी।   

 

बस में सवार थे 11 स्कूली बच्चे और 8 शिक्षक 

ड्राइवर देबीसिंह ने बताया कि हादसे के दौरान 11 स्कूली बच्चे व 8 शिक्षक बस में मौजूद थे। टोल के बाद भी बस में अन्य बच्चों को बैठाया जाना था। पुलिस का कहना है कि सोमालिया स्कूल की बस रोजाना गावों से बच्चों को लेकर गंगापुर पहुंचती है। चालक की सूझबूझ की वजह से बड़ा हादसा होने से तो बच गया, लेकिन बसों की फिटनेस को लेकर भी कई सवाल खड़े हो गए हैं। 

परिजनों ने ली राहत का सांस

स्कूल बस में आग की सूचना मिलने पर परिजन भी मौके पर पहुंच गए। बच्चों को बच्चों को सुरक्षित पाकर सभी ने राहत की सांस ली है। स्कूल प्रबंधन ने कहा है कि शॉर्ट सर्किट से आग लगने का कारण ड्राइवर द्वारा बताया जा रहा है। अन्य वाहनों का परीक्षण भी करवाया जा रहा है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.