Rajasthan: चोरी के शक में ग्रामीणों ने तीन युवकों को पकड़ा, फिर पोल से बांधकर पीटा, पुलिस छुड़ाकर थाने लाई 


ख़बर सुनें

अजमेर के केकड़ी सिटी थाना इलाके के कणोंज गांव में रविवार को जंगल में घूमते तीन युवकों को ग्रामीणों पकड़ लिया। ग्रामीणों ने भैंस चुराने के प्रयास आरोप लगाकर तीनों युवकों की जमकर पिटाई लगा दी। सूचना पर पहुंची सिटी पुलिस ने तीनों को ग्रामीणों के कब्जे से मुक्त कराया और पूछताछ के लिए थाने लेकर आई। 

जानकारी के अनुसार कणोंज गांव के बीहड़ में ग्वाले अपने जानवर चरा रहे थे। करीब दो सप्ताह पहले गांव के ही एक व्यक्ति की चार भैंस को अज्ञात चोर जंगल से चुराकर ले गए थे। इसके बाद से ही ग्रामीण सतर्क थे। रविवार दोपहर एक अल्टो कार और एक बाइक पर सवार होकर आधा दर्जन युवक जंगल में आए थे। ग्रामीणों का आरोप है कि सभी युवक भैंस चुराने की कोशिश कर रहे थे। इस दौरान ग्वालों ने उन्हें देख लिया और आवाज लगाकर ग्रामीणों को सूचना दी। 

यह देख कुछ युवक कार में सवार होकर मौके से भाग गए, जबकि तीन युवकों को ग्रामीणों ने मोटरसाइकिल सहित पकड़ लिया और गांव में ले आए। यहां एक लोहे के पोल से बांधकर ग्रामीणों ने तीनों युवकों की जमकर पिटाई लगा दी। सूचना पर सिटी थाना पुलिस मौके पर पहुंची और तीनों युवकों थाने ले आई। 

पुलिस के अनुसासर पकड़े गए युवकों की पहचान देवगांव निवासी बनवारी मोग्या, खरेड़ा थाना निवासी बंशी लाल मीणा और खुशीराम मोग्या के रूप में हुई है। सिटी थाने की एएसआई पारुल यादव ने बताया कि ग्रामीणों ने युवकों को भैंस चोर समझकर पकड़ लिया था। प्रारंभिक पूछताछ में ऐसी कोई जानकारी सामने नहीं आई है। पुलिस युवकों से पूछताछ में कर रही है।  

विस्तार

अजमेर के केकड़ी सिटी थाना इलाके के कणोंज गांव में रविवार को जंगल में घूमते तीन युवकों को ग्रामीणों पकड़ लिया। ग्रामीणों ने भैंस चुराने के प्रयास आरोप लगाकर तीनों युवकों की जमकर पिटाई लगा दी। सूचना पर पहुंची सिटी पुलिस ने तीनों को ग्रामीणों के कब्जे से मुक्त कराया और पूछताछ के लिए थाने लेकर आई। 

जानकारी के अनुसार कणोंज गांव के बीहड़ में ग्वाले अपने जानवर चरा रहे थे। करीब दो सप्ताह पहले गांव के ही एक व्यक्ति की चार भैंस को अज्ञात चोर जंगल से चुराकर ले गए थे। इसके बाद से ही ग्रामीण सतर्क थे। रविवार दोपहर एक अल्टो कार और एक बाइक पर सवार होकर आधा दर्जन युवक जंगल में आए थे। ग्रामीणों का आरोप है कि सभी युवक भैंस चुराने की कोशिश कर रहे थे। इस दौरान ग्वालों ने उन्हें देख लिया और आवाज लगाकर ग्रामीणों को सूचना दी। 

यह देख कुछ युवक कार में सवार होकर मौके से भाग गए, जबकि तीन युवकों को ग्रामीणों ने मोटरसाइकिल सहित पकड़ लिया और गांव में ले आए। यहां एक लोहे के पोल से बांधकर ग्रामीणों ने तीनों युवकों की जमकर पिटाई लगा दी। सूचना पर सिटी थाना पुलिस मौके पर पहुंची और तीनों युवकों थाने ले आई। 

पुलिस के अनुसासर पकड़े गए युवकों की पहचान देवगांव निवासी बनवारी मोग्या, खरेड़ा थाना निवासी बंशी लाल मीणा और खुशीराम मोग्या के रूप में हुई है। सिटी थाने की एएसआई पारुल यादव ने बताया कि ग्रामीणों ने युवकों को भैंस चोर समझकर पकड़ लिया था। प्रारंभिक पूछताछ में ऐसी कोई जानकारी सामने नहीं आई है। पुलिस युवकों से पूछताछ में कर रही है।  



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.