Rajasthan: दोबारा झगड़ा राशि देने से मना किया तो पहले पति ने दंपति को किया अगवा, ढाई महीने पहले की थी शादी


ख़बर सुनें

राजस्थान के झालावाड़ में नवविवाहित जोड़े से मारपीट कर अगवा करने के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने लगातार 18 घंटे तक कोटडा और भगवानपुरा के जंगल में सर्च ऑपरेशन चलाया। 3 घंटे में पुलिस टीम ने अगवा युवक और 18 घंटे में पत्नी को दस्तयाब कर लिया। इस कार्रवाई के लिए 100 पुलिसकर्मियों की 10 टीमे बनाई गईं थी। पुलिस ने बताया कि युवती के पहले पति ने अपने परिजनों और दोस्तों के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया था। 

झालावाड़ एसपी ऋचा तोमर ने बताया कि थाना डग निवासी फूलाबाई ने बुधवार रात एक रिपोर्ट दर्ज कराई। जिसमें उन्होंने बताया कि रात 8:00 बजे वह अपने दोनों बेटों राजू और अरविंद, अरविंद की पत्नी सपना और दोस्त नरेंद्र सिंह के साथ खाना खा रही थी। इस दौरान हाथों में लाठी, तलवार औरे बंदूक लिए 7-8 अज्ञात लोग घर में घुस गए और मारपीट करने लगे। इसके बाद अरविंद और सपना को अगवा कर कार से ले गए।  

मामले की जांच और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए 100 पुलिसकर्मियों की 10 टीमें बनाई गईं। टीम बदमाशों की गाड़ी का पीछा करना शुरू किया। पुलिस को पीछे देख आरोपी गाड़ी को छोड़कर कोटडा के जंगल में छिप गए। पुलिस टीमों ने रात को कोटला के जंगल में सर्च ऑपरेशन शुरू किया।

3 घंटे के अंदर अपहृत अरविंद को घायल अवस्था में दस्तयाब कर तीन आरोपियों को हिरासत में लिया गया। वहीं सपना की तलाश में पुलिस टीमों ने रात भर ऑपरेशन जारी रखा, लेकिन वह नहीं मिली। गुरुवार दोपहर 12:00 बजे कोटडा-भगवानपुरा के जंगलों से सपना को भी दस्तयाब कर लिया गया, साथ ही उसके पहले पति धनराज को हिरासत में लिया गया। मारपीट से घायल अरविंद और सपना को अस्पताल में भर्ती कराया गया। 

इसलिए किया था अगवा? 
सपना ने पुलिस को बताया कि धनराज से उसकी शादी परिजनों की रजामंदी से हुई थी। शादी के बाद वह उसके साथ मारपीट करने लगा। आखिर में तंग आकर उसने उसे छोड़ दिया और करीब ढाई महीने पहले अरविंद से कोर्ट मैरिज कर ली। इसके बाद से धनराज औरे उसके परिजन उनसे झगड़ा राशि की मांग करने लगे। रकम देने के बाद भी उनका लालच खत्म नहीं हुआ, वह बार-बार पैसों की मांग करने लगे। दोबारा पैसे नहीं देने पर उसने उसे अगवा कर लिया।  

इन्हें किया गया गिरफ्तार
मामले में पुलिस ने सपना के पहले पति धनराज मेहर पुत्र भैरू लाल (22) निवासी भगवानपुरा, श्यामलाल मेहर पुत्र रोडुलाल (30), रोडुलाल मेहर पुत्र प्रकाश लाल (35) निवासी कोटडा, रमेश मेहर पुत्र माधु लाल (50) निवासी गुराडिया जोगा थाना मिश्रोली और एलकार सिह पुत्र दुल्हे सिह निवासी बांसखेडी को गिरफ्तार किया गया है।

विस्तार

राजस्थान के झालावाड़ में नवविवाहित जोड़े से मारपीट कर अगवा करने के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने लगातार 18 घंटे तक कोटडा और भगवानपुरा के जंगल में सर्च ऑपरेशन चलाया। 3 घंटे में पुलिस टीम ने अगवा युवक और 18 घंटे में पत्नी को दस्तयाब कर लिया। इस कार्रवाई के लिए 100 पुलिसकर्मियों की 10 टीमे बनाई गईं थी। पुलिस ने बताया कि युवती के पहले पति ने अपने परिजनों और दोस्तों के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया था। 

झालावाड़ एसपी ऋचा तोमर ने बताया कि थाना डग निवासी फूलाबाई ने बुधवार रात एक रिपोर्ट दर्ज कराई। जिसमें उन्होंने बताया कि रात 8:00 बजे वह अपने दोनों बेटों राजू और अरविंद, अरविंद की पत्नी सपना और दोस्त नरेंद्र सिंह के साथ खाना खा रही थी। इस दौरान हाथों में लाठी, तलवार औरे बंदूक लिए 7-8 अज्ञात लोग घर में घुस गए और मारपीट करने लगे। इसके बाद अरविंद और सपना को अगवा कर कार से ले गए।  

मामले की जांच और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए 100 पुलिसकर्मियों की 10 टीमें बनाई गईं। टीम बदमाशों की गाड़ी का पीछा करना शुरू किया। पुलिस को पीछे देख आरोपी गाड़ी को छोड़कर कोटडा के जंगल में छिप गए। पुलिस टीमों ने रात को कोटला के जंगल में सर्च ऑपरेशन शुरू किया।

3 घंटे के अंदर अपहृत अरविंद को घायल अवस्था में दस्तयाब कर तीन आरोपियों को हिरासत में लिया गया। वहीं सपना की तलाश में पुलिस टीमों ने रात भर ऑपरेशन जारी रखा, लेकिन वह नहीं मिली। गुरुवार दोपहर 12:00 बजे कोटडा-भगवानपुरा के जंगलों से सपना को भी दस्तयाब कर लिया गया, साथ ही उसके पहले पति धनराज को हिरासत में लिया गया। मारपीट से घायल अरविंद और सपना को अस्पताल में भर्ती कराया गया। 

इसलिए किया था अगवा? 

सपना ने पुलिस को बताया कि धनराज से उसकी शादी परिजनों की रजामंदी से हुई थी। शादी के बाद वह उसके साथ मारपीट करने लगा। आखिर में तंग आकर उसने उसे छोड़ दिया और करीब ढाई महीने पहले अरविंद से कोर्ट मैरिज कर ली। इसके बाद से धनराज औरे उसके परिजन उनसे झगड़ा राशि की मांग करने लगे। रकम देने के बाद भी उनका लालच खत्म नहीं हुआ, वह बार-बार पैसों की मांग करने लगे। दोबारा पैसे नहीं देने पर उसने उसे अगवा कर लिया।  

इन्हें किया गया गिरफ्तार

मामले में पुलिस ने सपना के पहले पति धनराज मेहर पुत्र भैरू लाल (22) निवासी भगवानपुरा, श्यामलाल मेहर पुत्र रोडुलाल (30), रोडुलाल मेहर पुत्र प्रकाश लाल (35) निवासी कोटडा, रमेश मेहर पुत्र माधु लाल (50) निवासी गुराडिया जोगा थाना मिश्रोली और एलकार सिह पुत्र दुल्हे सिह निवासी बांसखेडी को गिरफ्तार किया गया है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.