Rajasthan: पुलिस की पिटाई से परेशान युवक खुदकुशी करने घर से निकला, स्टेटस पर लिखा- ‘मिस यू यारों’, जानें मामला


ख़बर सुनें

बीकानेर के लूणकरनसर थाना इलाके में रहने वाले दो नाबालिग लड़कों की पुलिस ने हाल ही में जमकर पिटाई कर दी थी। पुलिस की पिटाई से मानसिक रूप से परेशान अनिल ने गुरुवार को सोशल मीडिया अकाउंट पर मिस यू यारो…बाय बाय स्टेटस लगाया और आत्महत्या के लिए घर से निकल गया। परिजनों ने जैसे ही उसका स्टेटस देखा तो पुलिस को सूचना दी। इसके बाद पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की। 

पुलिस ने अनिल के मोबाइल नंबर की लोकेशन ट्रेस की तो वह महाजन के अर्जुनसर के पास की मिली। लूणकरनसर पुलिस ने महाजन थाने में अनिल के लापता होने की जानकारी दी। पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए 330 आरडी नहर के पास से उसे बरामद कर लिया। अनिल ने बताया कि वह पुलिस की प्रताड़ना से परेशान हो चुका है। उसे और उसके दोस्त विष्णु को पीटने वाले थाना प्रभारी सुमन पड़िहार और कांस्टेबल नेतराम पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है। इससे परेशान होकर उसने खुदकुशी का मन बना लिया था, और उसी के लिए घर से निकला था। युवक के परिजनों और पुलिस की समझाइश के बाद वह कुछ शांत हुआ और फिर अपने घर चला गया।

   

क्या है मामला? 
दो दिन पहले नाबालिग विष्णु और उसका दोस्त अनिल रोझ गांव के ठेके पर देर रात बिक रही शराब की शिकायत करने थाने पहुंचे थे। आरोप है कि शराब की शिकायत से नाराज थाना प्रभारी सुमन पड़िहार और कांस्टेबल नेतराम के साथ स्कार्पियो में सवार होकर धीरेरा पहुंचे। मनीराम गोदारा के घर में घुस कर विष्णु पुत्र सतपाल विश्रोई और अनिल रोझ को जबरदस्ती कार में डालकर थाने ले आए। यहां उनके साथ में जमकर मारपीट की गई। उनके शरीर पर पिटाई की निशान साफ दिख रहे थे।  

विस्तार

बीकानेर के लूणकरनसर थाना इलाके में रहने वाले दो नाबालिग लड़कों की पुलिस ने हाल ही में जमकर पिटाई कर दी थी। पुलिस की पिटाई से मानसिक रूप से परेशान अनिल ने गुरुवार को सोशल मीडिया अकाउंट पर मिस यू यारो…बाय बाय स्टेटस लगाया और आत्महत्या के लिए घर से निकल गया। परिजनों ने जैसे ही उसका स्टेटस देखा तो पुलिस को सूचना दी। इसके बाद पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की। 

पुलिस ने अनिल के मोबाइल नंबर की लोकेशन ट्रेस की तो वह महाजन के अर्जुनसर के पास की मिली। लूणकरनसर पुलिस ने महाजन थाने में अनिल के लापता होने की जानकारी दी। पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए 330 आरडी नहर के पास से उसे बरामद कर लिया। अनिल ने बताया कि वह पुलिस की प्रताड़ना से परेशान हो चुका है। उसे और उसके दोस्त विष्णु को पीटने वाले थाना प्रभारी सुमन पड़िहार और कांस्टेबल नेतराम पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है। इससे परेशान होकर उसने खुदकुशी का मन बना लिया था, और उसी के लिए घर से निकला था। युवक के परिजनों और पुलिस की समझाइश के बाद वह कुछ शांत हुआ और फिर अपने घर चला गया।

   

क्या है मामला? 

दो दिन पहले नाबालिग विष्णु और उसका दोस्त अनिल रोझ गांव के ठेके पर देर रात बिक रही शराब की शिकायत करने थाने पहुंचे थे। आरोप है कि शराब की शिकायत से नाराज थाना प्रभारी सुमन पड़िहार और कांस्टेबल नेतराम के साथ स्कार्पियो में सवार होकर धीरेरा पहुंचे। मनीराम गोदारा के घर में घुस कर विष्णु पुत्र सतपाल विश्रोई और अनिल रोझ को जबरदस्ती कार में डालकर थाने ले आए। यहां उनके साथ में जमकर मारपीट की गई। उनके शरीर पर पिटाई की निशान साफ दिख रहे थे।  



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.