Rajasthan: मजदूर के पास आया आईफोन, तो सामने आया पाकिस्तानी कनेक्शन, 15 करोड़ की कर चुका है ड्रग्स की तस्करी


ख़बर सुनें

बीएसएफ इंटेलिजेंस की सूचना पर बाड़मेर पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए अंतरराष्ट्रीय भारत-पाक सीमा से हेरोइन तस्करी करने वाले एक तस्कर को गिरफ्तार किया है। वह अभी तक करीब 15 करोड़ की हेरोइन को ठिकाना लगा चुका था। वह आस-पास मजदूरी किया करता था। लेकिन पिछले कुछ समय में उसकी लाइफ स्टाइल में बहुत बदलाव आ गया। उसके पास आईफोन और अच्छे कपड़े आए तो ग्रामीणों को भी अजीब लगा। खुफिया तंत्र को भनक लगी तो तस्कर को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया। पूछताछ के दौरान चौंकाने वाली बात सामने आई हैं।  

करीब 23 दिन में हेरोइन की 2 खेप पाकिस्तान से भारत आई और इसकी सप्लाई दिल्ली और पंजाब की गई। दोनों डील की सप्लाई के एवज में 5 और 10 लाख रुपये उसे मिले थे। पाकिस्तान से ड्ग्स तस्करों के तार जुड़े होने की वजह से पुलिस मामले की जांच गहनता के साथ कर रही है। डीआईजी बीएसएफ विनित कुमार व बाड़मेर एसपी दीपक भार्गव ने बताया कि 17 जुलाई को इनपुट के आधार पर सयुक्त कार्रवाई करते हुए संदिग्ध स्वरूपसिह को हिरासत में लिया था। बाड़मेर में विभिन्न एजेंसियों ने उसे पूछताछ की। 21 व 22 जुलाई को उसे वैज्ञानिक तरीके से भी पूछताछ की गई।

पूछताछ के दौरान स्वरूपसिंह ने बताया कि उसने अपने साथी भुटा सिंह के साथ मिलकर ईद के तीन दिन बाद में पांचला स्थित पाकिस्तान सीमा से 5 किलो हेरोईन का पैकेट प्राप्त किया था। जिसे पंजाब की पार्टी को सप्लाई किया गया। इससे पहले 27 मई को पाकिस्तान से 10 किलो हेरोइन के पैकेट प्राप्त किया और उसे दिल्ली की पार्टी को सप्लाई किया था। 
        
एसपी दीपक भार्गव ने बताया कि स्वरूप सिंह और उसके एक साथी भुटा सिंह का पाकिस्तान से कनेक्शन मिलने के बाद हर एंगल से मामले की जांच की जा रही है। स्वरूप सिंह के बेटे का फोन बंद जा रहा है और वह घर से गायब है। स्वरूप सिंह और उसके साथी भुटा सिंह के खिलाफ शुक्रवार को बाड़मेर के गडरा रोड थाने में मामला दर्ज किया है। भुटा सिंह भी बिजावल गांव का रहने वाला है। अभी तक पुलिस जांच में सामने आया है कि स्वरूप सिंह पाकिस्तान में रहने वाले एक रिश्तेदार की मदद से ड्रग्स की तस्करी कर रहा था। अब ड्रग्स खरीदने वालों की तलाश की जा रही है। 
 

विस्तार

बीएसएफ इंटेलिजेंस की सूचना पर बाड़मेर पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए अंतरराष्ट्रीय भारत-पाक सीमा से हेरोइन तस्करी करने वाले एक तस्कर को गिरफ्तार किया है। वह अभी तक करीब 15 करोड़ की हेरोइन को ठिकाना लगा चुका था। वह आस-पास मजदूरी किया करता था। लेकिन पिछले कुछ समय में उसकी लाइफ स्टाइल में बहुत बदलाव आ गया। उसके पास आईफोन और अच्छे कपड़े आए तो ग्रामीणों को भी अजीब लगा। खुफिया तंत्र को भनक लगी तो तस्कर को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया। पूछताछ के दौरान चौंकाने वाली बात सामने आई हैं।  

करीब 23 दिन में हेरोइन की 2 खेप पाकिस्तान से भारत आई और इसकी सप्लाई दिल्ली और पंजाब की गई। दोनों डील की सप्लाई के एवज में 5 और 10 लाख रुपये उसे मिले थे। पाकिस्तान से ड्ग्स तस्करों के तार जुड़े होने की वजह से पुलिस मामले की जांच गहनता के साथ कर रही है। डीआईजी बीएसएफ विनित कुमार व बाड़मेर एसपी दीपक भार्गव ने बताया कि 17 जुलाई को इनपुट के आधार पर सयुक्त कार्रवाई करते हुए संदिग्ध स्वरूपसिह को हिरासत में लिया था। बाड़मेर में विभिन्न एजेंसियों ने उसे पूछताछ की। 21 व 22 जुलाई को उसे वैज्ञानिक तरीके से भी पूछताछ की गई।

पूछताछ के दौरान स्वरूपसिंह ने बताया कि उसने अपने साथी भुटा सिंह के साथ मिलकर ईद के तीन दिन बाद में पांचला स्थित पाकिस्तान सीमा से 5 किलो हेरोईन का पैकेट प्राप्त किया था। जिसे पंजाब की पार्टी को सप्लाई किया गया। इससे पहले 27 मई को पाकिस्तान से 10 किलो हेरोइन के पैकेट प्राप्त किया और उसे दिल्ली की पार्टी को सप्लाई किया था। 

        

एसपी दीपक भार्गव ने बताया कि स्वरूप सिंह और उसके एक साथी भुटा सिंह का पाकिस्तान से कनेक्शन मिलने के बाद हर एंगल से मामले की जांच की जा रही है। स्वरूप सिंह के बेटे का फोन बंद जा रहा है और वह घर से गायब है। स्वरूप सिंह और उसके साथी भुटा सिंह के खिलाफ शुक्रवार को बाड़मेर के गडरा रोड थाने में मामला दर्ज किया है। भुटा सिंह भी बिजावल गांव का रहने वाला है। अभी तक पुलिस जांच में सामने आया है कि स्वरूप सिंह पाकिस्तान में रहने वाले एक रिश्तेदार की मदद से ड्रग्स की तस्करी कर रहा था। अब ड्रग्स खरीदने वालों की तलाश की जा रही है। 

 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.