गहलोत सरकार की छवि चमकाने को फर्जी सोशल अकाउंट बनाओ, अफसर के आदेश पर मचा बवाल


राजस्थान में गहलोत सरकार की छवि चमकाने के लिए युवा मित्रों को सरकारी प्रचार करने के तरीके को लेकर जारी आदेश से नया बवाल खड़ा कर दिया है। आदेश में युवा मित्रों को अपने स्वयं के नाम के अलावा ट्विटर पर 10 और फेसबुक पर 5 अकाउंट बनाकर सरकार की योजनाओं के प्रचार करने के निर्देश दिए गए हैं। बवाल बढ़ने पर सरकार ने एक अधिकारी को निलंबित कर दिया है। निदेशक, आर्थिक और सांख्यिकी विभाग का कहना है कि फेक आईडी बनाने के कोई निर्देश जारी नहीं किए है।

युवा मित्र सरकारी योजनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए 6 माह की इंटर्नशिप पर लगाए गए है। भाजपा ने आरोप लगाया है कि गहलोत सरकार प्रचार के लिए नियम कानून ताक में रखकर जालसाजों की फौज बना रही है। राजीव गांधी युवा इंटर्नशिप प्रोग्राम में चयनित युवा मित्रों को फर्जी फेसबुक और ट्विटर हैंडल बनाने के आदेश पर विवाद हो गया। आदेश में यह भी कहा गया कि वे इन फर्जी आईडी से कमेंट भी करें। सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर यह ऑर्डर ट्रोल होने लगा। बाद में संशोधित आदेश भी जारी किया गया।

अधिकारी बोले- ऐसा आदेश जारी नहीं किया

निदेशक, आर्थिक और सांख्यिकी विभाग ओमप्रकाश बैरवा का कहना है कि इस तरह के कोई आदेश जारी नहीं किए गए है। सहायक निदेशक को सस्पेंड कर दिया गया। साथ ही, उसके खिलाफ एफआईआर भी करवा दी गई। उल्लेखनीय है कि यह आदेश आ​र्थिक और सांख्यिकी विभाग, सवाई माधोपुर के सहायक निदेशक सतीश कुमार सहारिया ने बुधवार को जारी किया था। आदेश में कहा गया कि युवा मित्रों को खुद की फेसबुक आईडी और ट्विटर हैंडल के साथ 10-10 फर्जी फेसबु​क आईडी और ट्विटर हैंडल बनाना है। इसमें निदेशक के निर्देशों का हवाला दिया गया। विवाद होने के बाद सहायक निदेशक सतीश कुमार स​हारिया को गुरुवार को निलंबित कर दिया गया है। सहायक निदेशक ने आदेश में लिखा- हर युवा मित्र का खुद के नाम से एक ट्विटर अकाउंट होना चाहिए। साथ ही उस युवा मित्र को ट्विटर अकाउंट पर 10 डमी अकाउंट भी बनाने हैं और इन अकाउंट में कहीं भी युवा मित्र शब्द नहीं होना चाहिए। एक मोबाइल नम्बर से 10 डमी अकाउंट बन जाएंगे । सभी अकाउंट से रीट्वीट और कोट रीट्वीट करना है। इसी तरह युवा मित्र का एक फेसबुक अकाउंट होना चाहिए और उसी मोबाइल नम्बर से 5 डमी फेसबुक अकाउंट होने चाहिए। युवा मित्र अपने मुख्य अकाउंट और डमी अकाउंट से सोशल मीडिया का काम करेगा और सभी अकाउंट लाइक, शेयर और कमेंट करना है।

भाजपा ने लगाया जालसाजों की फौज खड़ी करने का आरोप

मामले के तूल पकड़ने पर सरकार ने पीछे हट गई, लेकिन भाजपा हमलावर हो गई है। उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़ ने सीएम गहलोत ने प्रदेश में जालसाजों की फौज खड़ी करने का आरोप लगाया है। विवाद बढ़ने पर सरकार ने एक्शन ले लिया। 3 अगस्त को जारी आदेश के खिलाफ गुरुवार को पुलिस महानिदेशक एमएल लाठर से मुलाकात कर ज्ञापन दिया और कार्रवाई की मांग की। वहीं, प्रतिपक्ष के उपनेता राजेंद्र राठौड़ ने भी इस मामले में गुरुवार को एक ट्वीट कर प्रदेश सरकार पर जालसाजों की फौज खड़ी करने का आरोप लगाया है। हालांकि, सरकार ने अधिकारी के खिलाफ एक्शन ले लिया है। लेकिन विभागों में समन्वय की कमी साफ दिखाई दे रही है। आनन-आफन में एक अधिकारी को निलंबित कर डैमेज कंट्रोल करने करने के कोशिश की है। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.