Army Jawan Dies In Road Accident Bharatpur – Rajasthan: रक्षाबंधन मनाने घर आए सेना के जवान की मौत, लोडिंग ऑटो ने मारी टक्कर, मौके पर ही तोड़ दिया दम


ख़बर सुनें

राजस्थान के भरतपुर जिले में हुए एक सड़क हादसे में सेना के जवान की मौत हो गई। वह रक्षाबंधन पर बहनों से राखी बंधवाने के लिए धुट्टी पर घर आया था। शुक्रवार को वह एटीएम से रुपये निकालने के लिए जा रहा था, इस दौरान एक लोडिंग ऑटो ने उसकी बाइक को टक्कर मार दी। हादसे में जवान की मौके पर ही मौत हो गई।  

जानकारी के अनुसार घटना चिकसाना थाना इलाके के दारापुर खुर्द की है। शुक्रवार दोपहर लेखराज (35) रुपये निकालने के लिए एटीएम जा रहा था। इस दौरान गांव से बाहर पेट्रोल पंप के पास सामने एक लोडिंग ऑटों ने उसकी बाइक को टक्कर मार दी। हादसा इतना भयानक था कि लेखराज ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। इसके बाद ग्रामीणों ने हादसे की सूचना पुलिस को दी और उसके शव को आरबीएम अस्पताल पहुंचाया। पुलिस ने लोडिंग ऑटो जब्त कर केस दर्ज कर लिया है। साथ ही फरार चालक की तलाश की जा रही है। 

लेखराज 21 राजपूत बटालियन में सूबेदार के पद पर पदस्थ थे। अभी वह अरुणाचल प्रदेश में तैनात थे। रक्षाबंधन पर बहनों से रखी बंधवाने के लिए वह 6 दिन पहले ही एक महीने की छुट्टी लेकर घर आए थे। उनकी पांच बहने हैं और सभी की शादी हो गई हैं। भाई के राखी पर आने की जानकारी लगते ही सभी बहने खुश हो गईं थी। एक बहन अपने पीहर आ गई थी, वहीं अन्य चार बहनें एक दो दिन में आने वालीं थीं। इसके अलावा लेवराज का एक छोटा भाई भी है जो अभी पढ़ाई कर रहा है।   

15 साल पहले लेखराज की शादी फतेहपुर सीकरी के गांव गुर्जर पूरा की रहने वाली पुष्पा से हुई थी। दोनो के चार बच्चे हैं। सबसे बड़ा बेटा अंकित 12, बेटी अवस्थी 8, पारो 6 और अंशु 3 साल की है। लेखराज की कमाई से ही परिवार का खर्च चलता था। उनके जाने के बाद परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। 

विस्तार

राजस्थान के भरतपुर जिले में हुए एक सड़क हादसे में सेना के जवान की मौत हो गई। वह रक्षाबंधन पर बहनों से राखी बंधवाने के लिए धुट्टी पर घर आया था। शुक्रवार को वह एटीएम से रुपये निकालने के लिए जा रहा था, इस दौरान एक लोडिंग ऑटो ने उसकी बाइक को टक्कर मार दी। हादसे में जवान की मौके पर ही मौत हो गई।  

जानकारी के अनुसार घटना चिकसाना थाना इलाके के दारापुर खुर्द की है। शुक्रवार दोपहर लेखराज (35) रुपये निकालने के लिए एटीएम जा रहा था। इस दौरान गांव से बाहर पेट्रोल पंप के पास सामने एक लोडिंग ऑटों ने उसकी बाइक को टक्कर मार दी। हादसा इतना भयानक था कि लेखराज ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। इसके बाद ग्रामीणों ने हादसे की सूचना पुलिस को दी और उसके शव को आरबीएम अस्पताल पहुंचाया। पुलिस ने लोडिंग ऑटो जब्त कर केस दर्ज कर लिया है। साथ ही फरार चालक की तलाश की जा रही है। 

लेखराज 21 राजपूत बटालियन में सूबेदार के पद पर पदस्थ थे। अभी वह अरुणाचल प्रदेश में तैनात थे। रक्षाबंधन पर बहनों से रखी बंधवाने के लिए वह 6 दिन पहले ही एक महीने की छुट्टी लेकर घर आए थे। उनकी पांच बहने हैं और सभी की शादी हो गई हैं। भाई के राखी पर आने की जानकारी लगते ही सभी बहने खुश हो गईं थी। एक बहन अपने पीहर आ गई थी, वहीं अन्य चार बहनें एक दो दिन में आने वालीं थीं। इसके अलावा लेवराज का एक छोटा भाई भी है जो अभी पढ़ाई कर रहा है।   

15 साल पहले लेखराज की शादी फतेहपुर सीकरी के गांव गुर्जर पूरा की रहने वाली पुष्पा से हुई थी। दोनो के चार बच्चे हैं। सबसे बड़ा बेटा अंकित 12, बेटी अवस्थी 8, पारो 6 और अंशु 3 साल की है। लेखराज की कमाई से ही परिवार का खर्च चलता था। उनके जाने के बाद परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.