Rajasthan: लंपी वायरस की रोकथाम के लिए मंत्री करेंगे जिलों का दौरा, सीएम गहलोत ने दिए निर्देश


राजस्थान की गहलोत सरकार लंपी वायरस से गोवंश का बचाने के लिए अलर्ट मोड पर आ गई है। सीएम गहलोत ने तत्काल प्रभाव से प्रभारी मंत्रियों को अपने-अपने प्रभार वाले जिलों में जाने के निर्देश दिए है। प्रभारी मंत्री जिलों का दौरा करेंगे और रिपोर्ट सीएम गहलोत को सौपेंगे। प्रभारी मंत्री जिलों में आवश्यक दवाईयां और टीकों की व्यवस्था करेंगे। इसके बाद मंत्री सरकार को रिपोर्ट देंगे। सीएम गहलोत ने लंपी वायरस को लेकर रिव्यू मीटिंग भी ली है। उल्लेखनीय है कि राजस्थान में लंपी वायरस से 4 हजार से अधिक गोवंश की अकाल मौत हो गई है। राजस्थान के 16 जिलों में लंपी वायरस का खतरा बड़ा है। करीब एक लाख गोवंश इस वायरस से प्रभावित हुआ है। 

पश्चिमी राजस्थान में ज्यादा असर

लंपी वायरस का सबसे ज्यादा असर पश्चिमी राजस्थान में है। जोधपुर,बाडमेर, जैसलमेर, जालौर, पाली, सिरोही, बीकानेर, चूरू, गंगानगर, हनुमानगढ़, अजमेर, नागौर, जयपुर, सीकर, झूंझूंनु, उजयपुर में दस्तक ही नहीं बल्कि बड़ी संख्या में गौ वंश को प्रभावित किया है। अकेले नागौर जिले के कुचामन सिटी में लम्पी ने 187 गौवंश की मौत हुई है। हाल ही में केंद्रीय टीम ने भी राजस्थान का दौरा किया था। राज्य के पशुपालन मंत्री लालचंद कटारिया ने जोधपुर का दौरा कर हालात का जायजा लिया था। राज्य सरकार ने वायरस से रोकथाम के लिए जिला कलेक्टरों के बजट भी आवंटित कर दिया है। राज्य सरकार ने प्रभावित 16 जिलों में अतिरिक्त पशु चिकित्सा अधिकारियों व पशुधन सहायकों की तैनाती कर दी है. सबसे ज्यादा प्रभावि़त 10 जिलों में 30 पशु चिकित्सक और 103 पशुधन सहायक की अतिरिक्त फोर्स लगाई गई है. संक्रमण वाले जिलों में तुरंत उपचार के लिए दवाओं की सप्लाई के आदेश भी दिए गए हैं. जरूरत के हिसाब से सभी पशु चिकित्सा अधिकारियों को दवा खरीदी के निर्देश के साथ में एक करोड़ रुपये का अतिरिक्त बजट जारी किया गया है. वहीं प्रभावी मॉनिटरिंग के लिए 30 अतिरिक्त वाहनों की व्यवस्था की गई है। 

मंत्री से लेकर मुख्य सचिव हुए अलर्ट

लम्पी बीमारी से प्रदेश के 16 जिलों में से सर्वाधिक बाड़मेर और श्रीगंगानगर जिले प्रभावित है। जहां पर 830 और 840 गौवंश की मौत हुई है। इधर राज्य सरकार ने इस बीमारी को लेकर पशुपालन मंत्री से लेकर मुख्य सचिव तक लम्पी बीमारी की रोकथाम को लेकर बैठकों का दौर शुरू हो गया है। मुख्य सचिव ऊषा शर्मा ने सचिवालय में अधिकारियों संग बैठक हाल ही में हालात का जायजा लिया था। सीएम गहलोत स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए है। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.