Rajasthan News Minor Rape In Churu Kidnapped Girl Nagaur – Rajasthan: 12वीं कक्षा की छात्रा से दुष्कर्म, ब्लैकमेल कर आरोपी ने रुपये भी ऐंठे, शादी का झांसा देकर किया अगवा


ख़बर सुनें

राजस्थान के चूरू जिले के तारानगर में 12वीं कक्षा की छात्रा से दुष्कर्म का मामला सामने आया है। आरोपी 17 साल की नाबालिग छात्रा को अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर दुष्कर्म कर रहा था। साथ ही ब्लैकमेल कर रुपये भी ऐंठ रहा था। पीड़िता की शिकायत पर तारानगर पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।  

तारानगर थाना अधिकारी गोविंदराम बिश्नोई ने बताया कि कस्बे में रहने वाले एक व्यक्ति ने थाने में दुष्कर्म का केस दर्ज कराया है। अपनी रिपोर्ट में उसने बताया कि उसकी 17 साल की नाबालिग बेटी 12वीं कक्षा में पढ़ती है। वह एक निजी लाइब्रेरी में कोचिंग करने के लिए भी जाती है। दो अगस्त सुबह सात बजे उसकी बेटी घर से लाइब्रेरी गई थी, लेकिन शाम तक वापस नहीं आई। जिसकी सूचना थाने में दर्ज कराई थी। 

पीड़िता अपने पिता ने बताया कि उसकी बेटी के साथ कोचिंग में नागौर के गच्छीपुरा का रहने वाला नारायण मेघवाल भी पढ़ता है। वह उनकी बेटी को काफी दिनों से परेशान कर रहा था। बार-बार वह उससे दोस्ती करने का भी प्रयास कर रहा था। लाइब्रेरी में उसे गलत तरीके से टच भी करता था। कोचिंग आते-जाते समय उसका पीछा भी करता था। 

पीड़िता ने बताया कि आरोपी ने उसके फार्म पर लिखा उसका भाई का नंबर ले लिया था, जिसके बाद उस पर मैसेज करने लगा। उस पर शारीरिक संबंध बनाने के लिए भी दबाव बना रहा था। कहा था कि मेरी बात नहीं मानी तो तुझे बदनाम कर दूंगा और तेरे भाई को जान से मार दूंगा। डर के कारण पीड़िता ने उसे घर से 15-20 हजार रुपये भी दे दिए।  

पीड़िता ने बताया कि तीन जुलाई की दोपहर करीब एक बजे वह लाइब्रेरी पहुंची तो नारायण बाहर मिल गया। डरा धमकाकर वह उसे अपने दोस्त के कमरे में ले गया और करीब तीन घंटे तक नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया। 8 जुलाई की दोपहर भी वह डरा धमकाकर लाइब्रेरी के पीछे एक हॉस्टल के कमरे में ले गया और वहां भी उसके साथ दुष्कर्म किया।

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि दो अगस्त की सुबह उसने छह हजार रुपये नारायण को बस स्टैंड पर दिए थे। इसके बाद वह नाबालिग को शादी का झांसा देकर तारानगर से चूरू ले आया और फिर वहां से अपने गांव गच्छीपुरा ले गया। पुलिस ने बताया कि नाबालिग की शिकायत पर पुलिस आरोपी के गांव पहुंची और नाबालिग को वहां से ले लाई। आरोप है कि लाइब्रेरी के संचालक शंकर और उसके बेटे हेमंत को इस पूरी घटना के बारे में पूरी जानकारी थी। पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।   

विस्तार

राजस्थान के चूरू जिले के तारानगर में 12वीं कक्षा की छात्रा से दुष्कर्म का मामला सामने आया है। आरोपी 17 साल की नाबालिग छात्रा को अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर दुष्कर्म कर रहा था। साथ ही ब्लैकमेल कर रुपये भी ऐंठ रहा था। पीड़िता की शिकायत पर तारानगर पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।  

तारानगर थाना अधिकारी गोविंदराम बिश्नोई ने बताया कि कस्बे में रहने वाले एक व्यक्ति ने थाने में दुष्कर्म का केस दर्ज कराया है। अपनी रिपोर्ट में उसने बताया कि उसकी 17 साल की नाबालिग बेटी 12वीं कक्षा में पढ़ती है। वह एक निजी लाइब्रेरी में कोचिंग करने के लिए भी जाती है। दो अगस्त सुबह सात बजे उसकी बेटी घर से लाइब्रेरी गई थी, लेकिन शाम तक वापस नहीं आई। जिसकी सूचना थाने में दर्ज कराई थी। 

पीड़िता अपने पिता ने बताया कि उसकी बेटी के साथ कोचिंग में नागौर के गच्छीपुरा का रहने वाला नारायण मेघवाल भी पढ़ता है। वह उनकी बेटी को काफी दिनों से परेशान कर रहा था। बार-बार वह उससे दोस्ती करने का भी प्रयास कर रहा था। लाइब्रेरी में उसे गलत तरीके से टच भी करता था। कोचिंग आते-जाते समय उसका पीछा भी करता था। 

पीड़िता ने बताया कि आरोपी ने उसके फार्म पर लिखा उसका भाई का नंबर ले लिया था, जिसके बाद उस पर मैसेज करने लगा। उस पर शारीरिक संबंध बनाने के लिए भी दबाव बना रहा था। कहा था कि मेरी बात नहीं मानी तो तुझे बदनाम कर दूंगा और तेरे भाई को जान से मार दूंगा। डर के कारण पीड़िता ने उसे घर से 15-20 हजार रुपये भी दे दिए।  

पीड़िता ने बताया कि तीन जुलाई की दोपहर करीब एक बजे वह लाइब्रेरी पहुंची तो नारायण बाहर मिल गया। डरा धमकाकर वह उसे अपने दोस्त के कमरे में ले गया और करीब तीन घंटे तक नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया। 8 जुलाई की दोपहर भी वह डरा धमकाकर लाइब्रेरी के पीछे एक हॉस्टल के कमरे में ले गया और वहां भी उसके साथ दुष्कर्म किया।

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि दो अगस्त की सुबह उसने छह हजार रुपये नारायण को बस स्टैंड पर दिए थे। इसके बाद वह नाबालिग को शादी का झांसा देकर तारानगर से चूरू ले आया और फिर वहां से अपने गांव गच्छीपुरा ले गया। पुलिस ने बताया कि नाबालिग की शिकायत पर पुलिस आरोपी के गांव पहुंची और नाबालिग को वहां से ले लाई। आरोप है कि लाइब्रेरी के संचालक शंकर और उसके बेटे हेमंत को इस पूरी घटना के बारे में पूरी जानकारी थी। पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।   



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.