सांकेतिक तस्वीर
– फोटो : सोशल मीडिया

विस्तार


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आव्हान के बाद से ही प्रदेश इकाई तिरंगा यात्रा और तिरंगा लगाने की मुहिम को सफल बनाने में जुटी हुई है। प्रदेश इकाई द्वारा एक करोड़ घरों में तिरंगा लगाया जाना प्रस्तावित है, जिसकी रूप रेखा तैयार की जा चुकी है। बीजेपी राजस्थान इकाई प्रधानमंत्री के आव्हान को शब्द दर शब्द लागू करने की जद्दोजहद में जुटी हुई है।

बता दें कि प्रधानमंत्री ने मन की बात में हर घर तिरंगा लगाने की बात कही थी, जिसको लेकर बीजेपी की रणनीति तैयार की जा चुकी है। बीजेपी एक करोड़ घरों तक पहुंचकर तिरंगा लगाने के मिशन पर जुट चुकी है। प्रदेश इकाई ने इस काम के लिए मंडल स्तर पर मौजूद अपनी टीम को चुना है। बीजेपी के राजस्थान में 1100 मंडल हैं, जिन पर अध्यक्ष और पूरी टीम तैयार है। हर मंडल को एक हजार तिरंगा का टारगेट भी दे दिया गया है, जिसका जोड़ एक करोड़ 10 लाख होता है।

मंडल स्तर के कार्यकर्ताओं को हर घर तिरंगा लगाना होगा और तस्वीरें भी साझा करनी होंगी। तिरंगा प्रदेश कार्यालय से उपलब्ध कराने की चर्चा है, जिससे कार्यक्रम की पूरी मॉनिटरिंग हो सके। तिरंगा लगाने के साथ हर मंडल पर तिरंगा यात्रा भी निकाली जानी प्रस्तावित है। कार्यकर्ता बाइक और अन्य साधनों से इस यात्रा को निकालेंगे। जिला स्तर पर तिरंगा यात्रा निकालने के लिए प्रदेश के नेताओं की जिम्मेदारी लगाई जानी भी प्रस्तावित है।

राजस्थान में विधानसभा चुनाव का शंखनाद हो चुका है। प्रदेश की दोनों बड़ी पार्टी कांग्रेस और बीजेपी अपनी-अपनी रणनीति के तहत हर घर पहुंचने की तैयारी कर रही हैं। जहां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मोबाइल फोन के माध्यम से एक करोड़ से ज्यादा घरों में अपनी पहुंच बनाने की तैयारी कर रहे हैं। वहीं, बीजेपी तिरंगा लगाने से हर घर में अपनी पहुंच और संबंध मजबूत करने में जुटी है। तिरंगा यात्रा और हर घर तिरंगा इस दिशा में एक प्रयोग है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *