पुलिस गिरफ्त में आरोपी।
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


राजस्थान के उदयपुर जिले में वेबसाइट के जरिए एस्कॉर्ट सर्विस देने का झांसा देकर ठगी करने वाले पांच आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी लड़कियों की तस्वीरें व्हाट्सएप पर दिखाकर रकम तय करते थे और लोगों को सूनसान जगह बुलाकर लूटपाट की घटनाओं को अंजाम देते थे। पुलिस ने आरोपियों के पास से  एक तलवार, 10 मोबाइल, दो हिसाब की डायरी और दो कार जब्त की है।

एसपी भुवन भूषण यादव ने बताया कि मामले में प्रीतम सिह पुत्र जीतेन्द्र सिह (22) निवासी मौहब्बपुरा थाना रेनवाल, मनीष चौधरी पुत्र नारायण लाल चौधरी (22) निवासी पवालिया थाना महुवा मण्डी, अशोक सैन पुत्र रामकिशोर सैन (23) निवासी बगरू, सुबराती खान पुत्र मजीद खान (25) निवासी साकुन्द थाना नरेना एवं दीपक कुमार मीणा पुत्र रामस्वरूप मीणा (21) निवासी कचनार थाना मौजवाबाद जिला जयपुर को गिरफ्तार किया गया है।

एसपी यादव ने बताया कि पिछले तीन-चार महीनों में इस गिरोह द्वारा सैकड़ों लोगों को शिकार बनाया गया है। इनकी गैंग का सरगना राकेश कुमार मीणा है। जिसने वेबसाइट पर अलग-अलग फोन नंबर लिंक कर रखे हैं। कॉलगर्ल के लिए इस वेबसाइट पर संपर्क करने वाले व्यक्ति को तुरंत मोबाइल पर संपर्क होता है। उसके बाद व्हाट्सएप पर खूबसूरत लड़कियों के फोटो भेज कर संबंध बनाने और बातचीत करने के बारे में एक निश्चित रकम तय की जाती है।

उसके बाद इस गिरोह के सदस्य टारगेट को निश्चित रकम लेकर किसी सुनसान स्थान पर बुलाते और फिर हथियार दिखा और मारपीट कर लूट लेते हैं। पीड़ित भी बदनामी के डर से रिपोर्ट दर्ज नहीं कराते थे, इससे इनके हौसले बुलंद होते जा रहे थे।

एसपी यादव ने बताया कि मामला संज्ञान में आने पर आसूचना एकत्रित कर सोमवार को एक टीम गठित की गई। गठित टीम ने सुखा नाका रोड पर पुलिसकर्मी को बोगस ग्राहक बनाकर भेजा जिसके बाद  इस गोरखधंधे का खुलासा किया। जिसके बाद पुलिस इस कांड में शामिल पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है। उनसे पूछताछ कर अब तक की वारदात के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *