पुलिस ने केस दर्ज कर जांच की शुरू।
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


राजस्थान के बाड़मेर जिले के बीजराड़ थाना इलाके के जैसार गांव में दुष्कर्म के प्रयास का केस दर्ज होने के बाद एक युवक ने टांके में कूदकर आत्महत्या कर दी। परिजनों का कहना है कि बेटे ने बदनामी के डर से ये कदम उठाया। साथ ही  उन्होंने महिला समेत चार लोगों पर आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज कराया है। पुलिस ने शव का पीएम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया है।  

पुलिस के अनुसार बिजराड़ थाने में 21 अगस्त को एक महिला ने युवक के खिलाफ घर में घुसकर दुष्कर्म का प्रयास करने का केस दर्ज करवाया था। जानकारी लगने पर इसी दिन शाम को आसूराम पुत्र सोनाराम (20) निवासी जैसार ने घर के आगे खेत में बने टांके में कूदकर आत्महत्या कर ली। 

टांके के पास युवक की चप्पल देखकर परिजनों ने अंदर देखा तो उसका शव नजर आया। परिजनों ने आनन-फानन में युवक को टांके से बाहर निकाला और चौहटन उप जिला अस्पताल लेकर गए। जहां, डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को चौहटन अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया था। 

मंगलवार को मृतक आसूराम के चाचा जेठाराम पुत्र गोरधनराम ने दुष्कर्म का मामला दर्ज करवाने वाली महिला, उसके पति और भाई समेत चार लोगों के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज कराया। अपनी शिकायत में उन्होंने बताया कि महिला समेत सभी आरोपियों झूठा केस दर्ज करवाकर आसूराम को आत्महत्या करने के लिए मजबूर किया। केस दर्ज होने के कुछ घंटे बाद ही बदनामी के डर से उसने जान दे दी। 

बिजराड़ थाने के एएसआई गुमान सिंह ने बताया कि मृतक के चाचा की रिपोर्ट पर केस दर्ज कर लिया गया है। पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *