सांकेतिक तस्वीर
– फोटो : सोशल मीडिया

विस्तार


राजस्थान के भीलवाड़ा में एक बार फिर हैवानियत की हदें पार कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां बीती रात एक महिला को अगवा कर खंडहर में ले जाकर उसके साथ गैंगरेप किया गया। महिला किसी तरह आरोपियों से बचकर निर्वस्त्र हालत में सड़क पर पहुंची और लोगों से मदद की गुहार लगाने लगी। लोगों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू की तो मामला कुछ और ही निकला।

जानकारी के अनुसार भीलवाड़ा जिले के गंगापुर थाना क्षेत्र की महिला का आरोप है कि वो खाना खाने के बाद टहलने निकली थी इसी दौरान उसे अगवा कर उसके साथ गैंगरेप किया गया। उसके शरीर को नोचा गया। इतना ही नहीं आरोपी उसके कपड़े तक ले गए। महिला का कहना है कि निर्वस्त्र हालत में वो सड़क पर जाकर लोगों से मदद मांगने लगी। सब उसे पागल समझ रहे थे। एक व्यक्ति ने उसकी आपबीती सुनी और फिर पुलिस को सूचना दी।

वहीं, पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार अपहरणकर्ता नशे में थे। मामले की गंभीरता को देखते हुए भीलवाड़ा से अतिरिक्त पुलिस विमल सिंह नेहरा भी गंगापुर पहुंचे थे। घटनास्थल से पुलिस को आपत्तिजनक सामग्री भी मिली है, जिसे जब्त कर लिया गया है। वहीं, गंगापुर पुलिस उप अधीक्षक लाबूराम बिश्नोई का कहना है कि पुलिस को सूचना मिली उसके बाद महिला को अस्पताल में मेडिकल के लिए लाया गया। पीड़िता की रिपोर्ट के आधार पर आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा।

गंगापुर कस्बे में हुई इस घटना के विरोध में शनिवार देर रात को बड़ी संख्या में लोग गंगापुर के पुलिस उपाधीक्षक कार्यालय के बाहर एकत्र होकर न्याय की मांग करने लगे। FSL टीम ने घटनास्थल से सबूत एकत्र किए हैं। टीम को मौके पर महिला की टूटी हुई चूड़ियां भी मिली हैं।

घटना में एक और नया ट्विस्ट, पुलिस ने कहा- गैंगरेप की घटना झूठी है

भीलवाड़ा के मामले में एक और नया एंगल देखना को मिला है। इस को लेकर पुलिस ने बयान जारी किया है। उसमें कहा है कि थाना गंगापुर में महिला के अपहरण और गैंगरेप की घटना पाई गई है। महिला अपनी मर्जी से आरोपियों के साथ थी। झामपुरा चौराहा के पास आमली रोड पर निर्वस्त्र औरत के चिल्लाने की सूचना 9 सितम्बर की रात 8:40 पर मिली। प्राथमिक जानकारी में महिला का किडनैप और एक खंडहर बिल्डिंग में उसके साथ गैंगरेप करने की घटना सामने आई। उसके बाद टीम पीड़िता को मेडिकल करने के लिए अस्पताल ले गई। जहां मौके पर FSL की टीम भी बुलाई गई। घटना स्थल से पीड़िता का मोबाइल, जिसमें आरोपियों से हुई वॉइस रिकॉर्डिंग भी मिली, जिसके बाद पूरी गहन जांच के बाद सही घटना की  जानकारी मिली।

पुलिस ने बयान में क्या कहा- समझिए सिलसिलेवार

पुलिस के द्वारा जारी किए बयान में कहा गया कि उड़ीसा निवासी 25 साल पीड़िता की शादी 50 साल के विकलांग के साथ हुई। करीब छह साल पहले यह शादी एक दलाल के माध्यम से हुई थी। इस घटना के बार में पुलिस बयान में लिखा है कि छोटु सरगरा निवासी आमली गंगापुर ने 7 बजे से 7.51 PM तक पीड़िता से मोबाइल पर बात कर आने के लिए कहा, रुपये को लेकर भी बात तय हुई। छोटू बाइक पर पीड़िता को बैठाकर लाया और रास्ते में गिरधारी भी उसी बाईक पर पीछे बैठ गया। दोनों ने उसे आमली रोड किनारे बने खण्डहर में ले जाकर बारी-बारी से शारीरिक संबंध बनाए। बताया जा रहा है कि गिरधारी पीड़िता का पूर्व परिचित है। उसे रात भर रखने की जिद करने से डर कर निर्वस्त्र ही पीड़िता भागकर सड़क के किनारे आयी थी। राहगीरों ने शाल देकर थाने फोन किया। वहीं, पुलिस ने बताया कि महिला ने आरम्भ में पति के डर से गलत तथ्य बताए थे। मौके से भागे दोनों आरोपियों को पुलिस डिटने कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *