Rajasthan Monsoon rain alert in 12 districts seven people died in different accidents during rains

12 जिलों में मॉनसूनी बारिश का अलर्ट (चंबल नदी)
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


राजस्थान में बरसात से हुए अलग-अलग हादसों में सात लोगों की मौतें हो गई। आज सुबह 12 जिलों में बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। मानसून की बारिश का दौर पिछले दो दिन से फिर से जारी हुआ है। कई बांध भर चुके हैं। चंबल नदी खतरे के निशान से ऊपर चल रही है। धौलपुर से कोटा तक अलर्ट जारी किया गया हैं। जयपुर समेत प्रदेश भर में चल रहे इस मौसम में ठंडक आ गई है। 

प्रदेश में वर्षा जनित हादसों से बांसवाड़ा में सात लोगों की मौत दर्ज की गई है। कंट्रोल रूम के मुताबिक कुशलगढ़ क्षेत्र में पानी में बहने से तीन लोगों, आनंदपुरी में पानी में बहने से और मकान ढहने से एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई। सज्जनगढ़ क्षेत्र में मकान की दीवार गिरने और घाटोल के भूंगरा क्षेत्र में पानी में बहने से भी एक-एक व्यक्ति की मृत्यु हुई है।

12 जिलों में आज बारिश का अलर्ट जारी

राजस्थान के 12 जिलों- जयपुर, दौसा, जोधपुर, सवाई माधोपुर, बूंदी, उदयपुर, भीलवाड़ा, राजसमंद, कोटा, अजमेर, सिरोही, चित्तौड़गढ़ में मौसम विभाग ने बरसात का अलर्ट जारी किया है। राजस्थान और मध्य प्रदेश में चंबल नदी उफान पर है। चंबल और सहायक नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। नदियों में पानी की जोरदार आवक के कारण गांधी सागर बांध में एक ही दिन में नौ फीट पानी आ चुका है। बीती रात से 12 गेट खोलकर 2.35 लाख क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है। गांधी सागर में कैचमेंट में चार लाख 16 हजार क्यूसेक पानी की आवक हो रही है। 

राणा प्रताप सागर बांध में सोमवार सुबह 8:30 बजे से गेट खोले, कोटा से धौलपुर तक अलर्ट

कोटा के जल संसाधन विभाग के अधिशासी अभियंता भारत रत्न गौड़ के मुताबिक राणा प्रताप सागर बांध में सोमवार सुबह 8:30 बजे से गेट खोल दिए गए हैं। राणा प्रताप सागर बांध का पानी जवाहर सागर और कोटा बैराज से होकर निकाला जा रहा है। इसके चलते कोटा से धौलपुर तक अलर्ट जारी किया गया है। कोटा बैराज का एक गेट खोलकर 25000 क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है। 

बागीदौरा इलाके में पिछले 24 घंटे में 365 मिमी यानी करीब साढे 14 इंच बारिश दर्ज

सबसे ज्यादा बरसात बांसवाड़ा जिले में हुई है । बांसवाड़ा के बागीदौरा इलाके में पिछले 24 घंटे में 365 मिमी यानी करीब साढे 14 इंच बारिश दर्ज की गई है। जिले के ज्यादातर इलाकों में 200 मिली मीटर से अधिक बरसात हुई है। पश्चिमी राजस्थान के सबसे बड़े जवाई बांध के छह गेट एक फीट खोलकर 5340 क्यूसेक पानी की निकासी की गई है। झालावाड़ कालीसिंध बांध के पांच गेट को चार मीटर तक खोलकर 73 हजार 185 क्यूसेक और भीमसागर बांध का एक गेट खोलकर 800 क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है।

अगले 48 घंटों में प्रदेशभर में हल्की से तेज बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे में प्रदेश भर में हल्की से लेकर तेज बारिश की संभावना जताई है। डूंगरपुर, राजसमंद, सिरोही, उदयपुर, जालौर, बाड़मेर, पाली रेंज में बरसात का ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया गया है। दक्षिणी पूर्वी राजस्थान और मध्य प्रदेश पर एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। जिसके प्रभाव से मॅानसून एक्टिव है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *