CM Ashok Gehlot statement in Jodhpur on Sanjeevani scam we ready to go to jail if poor get justice

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत।
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


राजस्थान के मुख्यमंत्री अपने बयानों को लेकर एक बार फिर चर्चा में हैं। जोधपुर में दिए गए उनके दो बयान एक बार फिर सुर्खियां बटोर रहें हैं। संजीवनी क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी घोटाले को लेकर गहलोत ने केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर, गरीबों को न्याय मिलता है तो हम जेल जाने के लिए तैयार हैं। मैं ये सब इसलिए कह रहा हूं ताकि गरीबों को न्याय मिल सके। हमने इसके लिए कोई कैंपेन नहीं चलाया है। केंद्र सरकार को भी हमारी मदद करनी चाहिए। 

दरअसल, सीएम अशोक गहलोत सोमवार को जोधपुर दौरे थे। एयरपोर्ट से बाहर निकलते हुए उन्होंने मीडिया से बात कर एक बार फिर संजीवनी घोटाले का मुद्दा उठाते हुए केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और भाजपा पर हमला बोला था। गहलोत ने कहा कि राजस्थान में संजीवनी घोटाला हुआ है। इन लोगों (भाजपा) की जिम्मेदारी है कि ये गरीबों को हक दिलाएं। अब इनसे क्या गलती हुई ये तो ये लोग लोग जाने और एसओजी जाने। मैं पहले इस पर बोलता नहीं था, लेकिन घोटाले के पीड़ित लोग मुझे तीन बार मिलने आए, उनका दर्द मुझसे नहीं देखा गया। इसके बाद मैंने जानकारी जुटाकर इस मुद्दे पर बोलना शुरू किया ताकि पीड़ितों को न्याय मिल सके। अब अगर, गरीबों को उनका पैसा मिलता है तो हम जेल जाने के लिए तैयार हैं। 

दौरे पर जोधपुर पहुंचे सीएम गहलोत ने पॉलिटेक्निक कॉलेज में बने मारवाड़ इंटरनेशनल सेंटर का लोकार्पण भी किया था। इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गहलोत ने सीएम पद छोड़ने की बात को फिर दोहराया। उन्होंने कहा- अब मैं सीएम पद को छोड़ना चाहता हूं, लेकिन ये मुझे नहीं छोड़ रहा है। गहलोत ने कहा कि मुझे 50 साल राजनीति करते हुए हो गए, जिंदगी में मुझे सब कुछ मिला है। कांग्रेस हाईकमान का मुझ पर भरोसा है। तीन बार केंद्रीय मंत्री, पीसीसी अध्यक्ष और 3 बार मुख्यमंत्री भी बन गया, अब क्या चाहिए? 

इलेक्टोरल बॉन्ड को लेकर भाजपा पर हमला

सीएम गहलोत ने इलेक्टोरल बॉन्ड को लेकर भी भाजपा पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि अगर, कोई भाजपा के अलावा किसी और पार्टी को पैसा देता है तो ईडी, इनकम टैक्स का डर रहता है। वे गैर कानूनी काम कर रहे हैं। एक तरफा बॉन्ड भाजपा के पास जा रहे हैं। ईडी, इनकम टैक्स के डर के कारण किसी दूसरी पार्टी को पैसा नहीं मिल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *