गृह राज्यमंत्री राजेंद्र यादव।
– फोटो : सोशल मीडिया

विस्तार


मिड-डे मील में गड़बड़ी के मामले को लेकर मंलगवार को ईडी की टीम ने गहलोत के मंत्री राजेंद्र यादव के कोटपूतली स्थित आवास पर छापा मारा। सुबह सात बजे 24 अधिकारियों-कर्मचारियों की टीम ने 18 सुरक्षाकर्मियों के साथ मंत्री के आवास पर पहुंची और शाम 4:15 बजे बाहर निकली। 9 से ज्यादा घंटे चली इस कार्रवाई के बीच मंत्री यादव और ईडी अफसरों के बीच टकराव के हालात भी बने। 

दरअसल, छापेमारी के लिए पहुंची ईडी की टीम ने मंत्री से उनके घर में रखी अलमारियों की चाबी मांगी तो उन्होंने देने से इनकार कर दिया। इसके बाद लॉक तोड़ने वाले को बुलाकर मंत्री की मौजूदगी में अलमारियों समेत अन्य ताले तुड़वाए गए। इस दौरान उसमें से निकले कुछ दस्तावेजों को ईडी की टीम ने जब्त कर लिया।   

ईडी अफसरों के जाने के बाद गृह राज्यमंत्री राजेंद्र यादव ने मीडिया से बात की। उन्होंने कहा कि मिड-डे मील मामले से मेरा कोई लेना-देना नहीं है। सिर्फ मुझे परेशान करने और दबाने के लिए यह कार्रवाई की गई है। लेकिन, मैं दबने वाला नहीं हूं और न कांग्रेस छोड़ने वाला हूं। मैं कांग्रेस में  ही रहूंगा। 

बतादें कि राजेंद्र यादव समेत उनका परिवार एजुकेशन और फूड सप्लाई समेत अन्य कारोबार से जुड़ा है। कोटपूतली में राजस्थान फ्लेक्सिबल पैकेजिंग फैक्ट्री नाम से उनकी कंपनी है। राजेंद्र यादव भी कंपनी के पद पर रह चुके हैं। हालांकि, वर्तमान में कंपनी के प्रबंधक मधुर यादव हैं, जो राजेंद्र यादव के बड़े बेटे हैं। यादव कोटपूतली से दूसरी बार विधायक बने और पहली बार मंत्री। इससे पहले वे जयपुर ग्रामीण से कांग्रेस जिलाध्यक्ष भी रह चुके हैं।

बतादें कि एक साल कुछ दिन के अंदर राजेंद्र यादव के ठिकानों पर ये दूसरी बड़ी कार्रवाई है। इससे पहले 7 सितंबर 2022 को इनकम टैक्स विभाग ने भी मंत्री यादव के 53 ठिकानों पर छापा मारा था। मंगलवार को ईडी की टीम ने भी इन्हीं ठिकानों पर  छापा मारा था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *