शारदीय नवरात्र 2023
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


Navratri 2023: पितरपक्ष के समापन के बाद आज से अच्छे दिन की शुरुआत हो गई है। आज से नौ दिवसीय पर्व नवरात्रि शुरू हो गया है। नवरात्र के साथ ही आज से सभी शुभ कार्य शुरू हो जाएंगे। नवरात्र के पहले दिन भारी संख्या में श्रद्धालु राजस्थान के शक्तिपीठों और मंदिरों में पहुंच रहे हैं। सीकर में भी शक्तिपीठ जीणमाता, शाकम्भरी सहित सभी मंदिर में मां जगदम्बे की उपासना की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। आज सुबह से ही घटस्थापना के साथ ही मां दुर्गा की शैलपुत्री का पूजन किया गया। नवरात्र के साथ ही बाजारों में भी चहल पहल देखी जा रही है।

शक्तिपीठ जीणमाता में उमड़ी भीड़

सीकर में मौजूद शक्तिपीठ जीणमाता और नजदीकी शाकम्भरी में नवरात्र में मेला लगता है। यहां लाखों की तादात में श्रद्धालु पहुंचते हैं। राजस्थान और हरियाणा सहित अन्य राज्यों से भक्त माता रानी के दर्शन के लिए पहुंचते हैं। साथ ही साथ जिले भर में सैकड़ों जगह सार्वजनिक दुर्गा पूजा महोत्सव और डांडिया और गरबा का आयोजन किया जाएगा। यानी 9 दिन तक सीकर पूरी तरह भक्ति भाव में लीन नजर आएगा। 

ज्यादा बारिश के योग 

शास्त्रों की मान्यता है कि नवरात्रि में जब देवी हाथी पर सवार होकर आती हैं, तब ज्यादा बारिश के योग बनते हैं। देवी भागवत पुराण के अनुसार महालया के दिन जब पितृगण धरती से लौटते हैं, तब मां दुर्गा अपने परिवार और गणों के साथ पृथ्वी पर आती हैं। उस दिन से ही नवरात्र शुरू हो जाते हैं। माता हर बार अलग-अलग वाहनों से आती हैं। 30 साल बाद इस वर्ष दुर्लभ संयोग भी बन रहा है। इस बार शारदीय नवरात्रि पर बुधादित्य योग, शश राजयोग और भद्र राजयोग का निर्माण हो रहा है। इस बार शारदीय नवरात्रि पूरे 9 दिनों का होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *