सचिन पायलट-प्रियंका गांधी वाड्रा-अशोक गहलोत
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


राजस्थान में चुनाव जीतने से पहले कांग्रेस में आलाकमान का विश्वास मत जीतने की जंग चल रही है। इसी कवायद में सीएम अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच बयानों के तीर भी चल रहे हैं। प्रियंका गांधी के राजस्थान दौरे को लेकर सचिन पायलट दो दिन से दौसा में मौजूद हैं।

वहीं, टिकटों पर मंथन पूरा होने के बाद सीएम अशोक गहलोत अब प्रियंका गांधी को अपने साथ लेकर राजस्थान पहुंच रहे हैं। गहलोत और प्रियंका दिल्ली एयरपोर्ट पर विशेष विमान में बैठकर जयपुर पहुंचेंगे। यहां से हेलीकॉप्टर के जरिए वे दौसा की सिकराय विधानसभा पहुंचेंगी, जहां वे ईआरसीपी को लेकर जनजागरण अभियान में शामिल होंगी। इसके साथ ही प्रियंका यहां जनसभा को भी संबोधित करेंगी।

गौरतलब है कि पूर्वी राजस्थान 2018 के चुनावों में पायलट का सबसे मजबूत रणक्षेत्र रहा है। इसलिए यहां सभा की तैयारियां भी वही देख रहे हैं।

गहलोत के प्रियंका के साथ होने के मायने

गहलोत हर काम एक मैसेज देने के लिए करते हैं। जब राजस्थान में कांग्रेस का सीएम फेस घोषित होने को लेकर भीतर द्वंद चल रहा था तब  गुरुवार को गहलोत ने दिल्ली में प्रेस कांफ्रेंस कर यह कह दिया कि सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी उन्हें हर बार सीएम बना देते हैं। इस बार भी सीएम की कुर्सी उन्हें नहीं छोड़ेगी। अब वे प्रियंका गांधी को अपने साथ लेकर सियासत में बड़ा मैसेज दे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *