प्रदर्शन करते वैश्य समाज के लोग
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


भाजपा के विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों की घोषणा के बाद ही शुरू हुआ विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। पूरे प्रदेश से घोषित उम्मीदवारों के खिलाफ प्रदर्शन की सूचना और तस्वीरें देखने को मिली है। भाजपा मुख्यालय पर शुक्रवार को वैश्य समाज के लोगों द्वार वर्तमान विधायक अशोक लाहोटी का टिकट काटकर भजनलाल शर्मा को टिकट देने का विरोध कर रहे है। वैश्य समाज का कहना है कि पूरा समाज सदैव भाजपा के साथ रहा है, परंतु भाजपा के द्वारा वैश्य समाज की अनदेखी करना और अशोक लाहोटी का टिकट काटना दुर्भाग्यपूर्ण है।

भाजपा को नहीं मिलेगा वोट

समाज के लोगों का कहना है कि अगर टिकट पर पुनः विचार नहीं किया गया तो इस बार समाज का विरोध झेलना पड़ेगा और उनका वोट भाजपा को नहीं मिलेगा। अशोक लाहोटी का सांगानेर से टिकट काटकर भरतपुर निवासी पार्टी के महामंत्री भजन लाल शर्मा को टिकट दिया गया है। अशोक लाहोटी के टिकट काटने के पीछे की वजह संघ की नाराजगी बताई जा रही है। 

कांग्रेस प्रत्याशी को मिल सकता है फायदा

सांगानेर विधानसभा जोकि भाजपा की अजय सीट मानी जाती रही। इसबार भजन लाल शर्मा को टिकट मिलने से कांग्रेस प्रत्याशी पुष्पेंद्र भारद्वाज की चमक बढ़ गई है। पिछले चुनाव में पुष्पेंद्र भारद्वाज अशोक लाहोटी से 35 हजार वोट से परास्त हुए थे। 2018 में अशोक लाहोटी को 107947 वोट मिले थे, जबकि पुष्पेंद्र भारद्वाज को 72542 वोट मिले थे। जबकि भाजपा से नाराज घनश्याम तिवारी को 17341 वोट मिले थे, यदि घनश्याम तिवारी चुनाव में नहीं उतरते तो अशोक लाहोटी की जीत का अंतर 50 हजार वोट तक जा सकता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *