ट्रेन में ‘आप’ नेता गायत्री बिश्नोई।
– फोटो : Amar Ujala Digital

विस्तार


आदमी पार्टी की महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्ष गायत्री बिश्नोई ने अपने ट्विटर पर ट्रेन का एक वीडियो पोस्ट करते हुए कहा कि केवल महिला ही नहीं कोई भी यात्री @IRCTCofficial में सुरक्षित नहीं है। बड़ी हैरानी की बात है, रात एक बजे ट्रेन में कुछ बदमाश खुलेआम नशे का सेवन कर, गंदी गालियों से यात्रियों को परेशान कर रहे हैं और ट्रेन में एक भी आरपीएफ जवान नहीं है।

गायत्री ने ट्रेन में नशे की हालत में उपद्रव कर रहे तीन लोगों का वीडियो पोस्ट करते हुए आरोप लगाया कि रेलवे सुरक्षा बल को शिकायत करने के बाद भी कार्रवाई में देरी की गई। वहीं, जवाब में रेलवे ने तुरंत कार्रवाई की बात कही है, जिसके बाद से मामले ने तूल पकड़ लिया है।

 

आरपीएफ ने अपने बयान में कहा कि उनकी ओर से आरोपियों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करने के बाद गायत्री ने वीडियो पोस्ट किया है। इस पर गायत्री विश्नोई का कहना कि मैं यह सुनिश्चित करना चाहती थी कि बाद में ये मामला कहीं रफा-दफा न हो जाए। मेरा उद्देश्य इस बारे में जागरुकता पैदा करना था। आरपीएफ की देर से की गई कार्रवाई के चलते ट्रेन में यात्रा करने वाली कई महिला यात्रियों को कैसे असुरक्षित और अजीब स्थिति में डाल दिया। साथ ही मैं लोगों को यह बताना चाहती थी कि कई ट्रेन में एक भी आरपीएफ जवान नहीं होता है।

वहीं, आरपीएफ ने एक में ये स्वीकर किया है कि ट्रेन (झालावाड़ सिटी से श्रीगंगानगर एक्सप्रेस) में कोई जवान तैनात नहीं था क्योंकि 5,000 कर्मियों को उनकी नियमित नौकरी से चुनाव ड्यूटी में भेज दिया गया है। आरपीएफ ने कहा कि 20-11-2023 को आधी रात के ऑपरेशन में, रेलवे सुरक्षा बल ने ट्रेन नंबर 22997 (झालावाड़ सिटी से श्री गंगानगर एक्सप्रेस) पर एक महिला यात्री की परेशानी की शिकायत पर त्वरित कार्रवाई करते हुए उसका समाधान किया। आरपीएफ के अनुसार, शिकायत ‘रेल मदद’ के माध्यम से 00:17 बजे प्राप्त हुई और आरपीएफ कोटा डिवीजन ने तुरंत 00:26 बजे शिकायतकर्ता से संपर्क किया, जिसके बाद शिकायत को तुरंत 00:30 बजे जोधपुर डिवीजन को भेज दिया गया। ट्रेन के मकराना जंक्शन स्टेशन से 00:28 बजे प्रस्थान करने के बाद 01:02 बजे ट्रेन के डेगाना पहुंचने पर गायत्री बिश्नोई की तुरंत देखभाल की गई। तीनों अपराधियों को आरपीएफ डेगाना स्टेशन पर उतार लिया और उनके खिलाफ रेलवे अधिनियम के प्रावधानों के तहत मुकदमा चलाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *