MPs and MLAs came with the agitators demanding interchange cut

आंदोलनकारी
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


दौसा में 25 फरवरी से अनिश्चितकालीन धरने पर पुरूष और महिलाएं यहां इंटरचेंज की मांग को लेकर हाइवे पर पड़ाव डालकर बैठ गए हैं, इनका कहना है कि इनको जब तक इंटरचेंज कट नहीं दिया जाएगा तब तक इनका धरना समाप्त नहीं होगा। दौसा जिले के बांदीकुई शहर के व्यापारी भी अब बाजार बंद कर इनके समर्थन में आ उतरे है, जिसके चलते कल बांदीकुई में जुलूस निकाल कर बंद को बनाया सफल बनाया गया 

इधर, द्वारापुरा में एक्सप्रेस-वे के नजदीक चौथे दिन भी महापड़ाव जारी रहा। महापड़ाव में गांव ढाणियों के लोग बड़ी संख्या में जुटे। इस दौरान धरने दे रहे पांच लोगों का डेलिगेशन

केन्द्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मिलने के लिए दिल्ली रवाना हुआ है, बताया जा रहा है कि वहां उनको ज्ञापन सौंपा जाएगा। जबकि मामले में सांसद जसकौर मीना और विधायक भागचंद सैनी टांकडा भी इस आंदोलन का समर्थन करते हुए सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मिलेंगे। 

महिलाओं ने दी चेतावनी

बता दें कि ग्रामीणों का कहना गत 11 नंवबर को महापंचायत हुई थी, जिसमें दौसा सासंद जसकौर मीणा के आश्वासन पर धरना खत्म हुआ था ,लेकिन इंटरचेंज नहीं मिलने पर गत 25 फरवरी से लगातार धरना जारी है। महिलाओं की मानें अगर इंटरचेंज नहीं दिया गया तो आंदोलन और तेज होगा और ये फिर आर-पार की लड़ाई हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *